अपने ही राज में विधायक ने कहा गांवों में नहीं है पानी

– 51 योजनाओं का ठेका एक ही ठेकेदार को देने पर जताई आपत्ति
श्रीगंगानगर। अपने ही राज में भाजपा विधायक राजेन्द्र भादू ने कहा कि गांवों में पेयजल की समस्या आ रही है। अधिकारी उसका तुरंत प्रभाव से निदान नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने जलदाय विभाग के अधिकारियों की ख्ंिाचाई करते हुए कहा कि सूरतगढ़ क्षेत्र में जितने भी गांवों में जल योजनाओं का काम चल रहा है, उसकी गति बहुत ही धीमी है और विभाग ने एक ही ठेकेदार को निर्माण कार्य का टैंडर दे रखा है, जिस वजह से गडबड़ी हो रही है।
भादू ने कहा कि लोगों को पानी की आज आवश्यकता है, लेकिन जिस हिसाब से काम किया जा रहा है, ऐसे में तो चार साल बाद पानी मिलेगा। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित विकास योजनाओं की प्रगति बैठक में उपस्थित हुए प्रभारी मंत्री डॉ. रामप्रताप ने अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री बजट घोषणाओं के तहत जो कार्य इस जिले में शुरू करवाए गए हैं। उनकी क्रियान्विती हल हाल में होनी चाहिए। जहां कहीं भी दिक्कत आ रही है, बैठक कर उसका निदान करें।
जलदाय विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 51 योजनाओं के कार्य के टैंडर को चुके हैं। इसमें से आधी योजनाओं में काम पूरा किया जा चुका है। 20 योजनाएं सूरतगढ़ में शुरू की गई हैं।
आदर्श गांव में नहीं पहुंच रहा पानी
इस मौके पर रायसिंहनगर विधायक सोना देवी ने कहा कि गांवों में पेयजल की बहुत भारी समस्या है। मुख्यमंत्री आदर्श गांव 73 आरबी को घोषित कर रखा है, लेकिन यहां भी पानी नहीं पहुंच रहा। उन्होंने कहा कि जब चयनित गांव के यह हाल हैं तो अन्य गांवों के क्यों होंगे।
कलेक्टर ने माना स्थिति है खराब
जिला कलेक्टर पीसी किशन ने माना की पीने के पानी को लेकर अनेक गांवों में स्थिति काफी खराब है। इस समस्या का हल निकाला जाएगा। जेजेवाई योजना में काफी गडबडियां हैं। 15 वर्षों तक डिग्गियों की सफाई नहीं हुई है।
इसको ठीक किया जाएगा। ताकि लोगों को शुद्ध पानी मिल सके। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी, पंचायत समिति प्रधान पुरुषोत्तम प्रधान, एडीएम प्रशासन करतारसिंह पूनिया, जिला परिषद सीईओ विश्राम मीणा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।