अपनों से कैसा बैर, परिवार में बढ़ेगा प्रेम

कलह कैसा भी हो, इसका परिणाम बेहद घातक होता है। माना जाता है कि जहां क्लेश होता है, वहां मां लक्ष्मी का वास नहीं होता। कभी-कभी परिवार में ऐसी स्थिति आ जाती है कि कोई समस्या कलह का रूप ले लेती है। तमाम सुख सुविधाएं, संपन्नता होने के बाद भी कलह दूर नहीं हो पाता है। वास्तु शास्त्र में कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं जो आपके जीवन से कलह को हमेशा के लिए दूर कर देंगे। आइए जानते हैं इनके बारे में।
भगवान विष्णु से सुखी जीवन के लिए प्रार्थना करें। शाम को घर में दीप जलाएं और आरती करें। हनुमान जी का ध्यान करें और हनुमान चालीसा का पाठ करें। शिवलिंग पर जलाभिषेक करें। घर में तुलसी का पौधा लगाएं। पूजा के बाद पूरे घर में शंखनाद करें। ऐसा करने पर पूरे घर में शांति व्याप्त हो जाएगी। गायत्री मंत्र का जाप करें। प्रतिदिन पूजा में कपूर का प्रयोग करें।
घर में कभी ऊंची आवाज में बात न करें। घर में बर्तनों के गिरने या टकराने की आवाज न आए। बाहर से घर आएं तो खाली हाथ न आएं। सफेद रंग की मिठाई लेकर आएं और परिवार के साथ मिलकर खाएं। घर के फर्श पर नमक मिले पानी से पोंछा लगाएं और इसके बाद अगरबत्ती जला दें। शुक्रवार को पत्नी को इत्र भेंट करें। रसोई में भोजन बनाने के दौरान मन में प्रेम भावना रखें। झूठे बर्तनों को देर तक न छोड़ें। घर में कभी भी कांटेदार पौधे न लगाएं।