अब चीन में सामान का निर्यात करेगी रामदेव की कंपनी

नई दिल्ली। देश में कई दिग्गज एफएमसीजी कंपनियों को कारोबार के मामले में पछाडऩे के बाद अब बाबा रामदेव चीन में अपना बिजनस जमाने की तैयारी में हैं। रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने सरकार की ‘ऐक्ट ईस्ट पॉलिसी के साथ काम करते हुए भारत के पूर्वी देशों में अपना बिजनस बढ़ाने की रणनीति तैयार की है। पतंजलि आयुर्वेद की योजना झारखंड के साहिबगंज जिले में प्रॉडक्शन यूनिट खोलने की है। इस जिले को केंद्र सरकार मल्टी-मॉडल हब बनाने की तैयारी कर रही है। सरकार इस इलाके को दक्षिण एशियाई देशों से जल, वायु और सड़क मार्ग से जोडऩे पर काम कर रही है। मिंट ने एक सीनियर सरकारी अधिकारी के हवाले से लिखा, ‘पतंजलि आयुर्वेद कंपनी शिपिंग ऐंड वॉटरवेज मिनिस्ट्री के साथ पूर्वी एशियाई देशों में सामान के निर्यात को लेकर साहिबगंज स्थित मल्टीमॉडल टर्मिनल के इस्तेमाल को लेकर बातचीत कर रही है। इस टर्मिनल के जरिए पंतजलि चीन, म्यामांर, बांग्लादेश और अन्य दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में अपने सामान का निर्यात करने की योजना में है। जलमार्ग के जरिए कंपनी को लॉजिस्टिक्स पर कम खर्च करना होगा और इससे वह आसानी से पूर्वी एशिया के देशों में अपनी पैठ बना सकेगी।Ó अब तक झारखंड में गंगा किनारे के एक जिले की पहचान रखने वाला साहिबगंज पतंजलि के सामान को बांग्लादेश और म्यामांर तक पहुंचाने का केंद्र बन सकता है।