अब राजस्थान में आमने-सामने होंगे शरद यादव और नीतीश कुमार

जयपुर। जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व अध्यक्ष शरद यादव के बीच पार्टी के प्रभुत्व को लेकर चल रहा विवाद अब राजस्थान तक पहुंच गया है। राज्य के आदिवासी क्षेत्रों में अब नीतीश कुमार और शरद यादव ने अपने पुराने साथियों से संपर्क करना शुरू कर दिया है। अगले वर्ष होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव को देखते हुए नीतीश अक्टूबर में आदिवासी जिला मुख्यालय बांसवाड़ा में रैली को संबोधित करेंगे। जदयू के राष्ट्रीय महासचिव अखिलेश कटियार ने मंगलवार को जयपुर में पार्टी के प्रदेश स्तरीय नेताओं के साथ बैठककर नीतीश की रैली और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा की। कटियार ने नीतीश कुमार की अगुवाई वाले जदयू को असली जदयू बताते हुए कहा कि राज्य की सभी 200 विधानसभा सीटों पर चुनाव लडऩे की तैयारी की जा रही है। उन्होंने शरद यादव के निकट माने जाने वाले जदयू के प्रदेश अध्यक्ष रामनिवास को पद से हटाने की घोषणा करते हुए कहा कि शीघ्र ही नए प्रदेश पदाधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी। इधर, जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव 14 सितंबर को जयपुर आ रहे हैं। वह यहां भाजपा विरोधी दलों के नेताओं को एक मंच पर लाएंगे। साझा विरासत बचाओ अभियान के तहत शरद यादव यहां एक सम्मेलन आयोजित करेंगे। इस सम्मेलन में शामिल होने के लिए कांग्रेस सहित भाजपा विराधी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है।