BREAKING NEWS
Search

अलसी खाओगे तो मोटापा भी भाग जाएगा

asliअलसी यानी कई बीमारियों में फायदेमंद होता है। इसके सेवन से आप कई बीमारियों को दूर कर सकते हैं। अलसी हार्ट अटैक, डायबीटिज जैसी बीमारियों में भी एक बेहतर घरेलू उपचार है, कैंसर रोगियों के लिए भी अलसी फायदेमंद होती है। इसलिए आप अपने घर में अलसी जरूर रखें।
खांसी में फायदेमंद अलसी की चाय
खांसी में अलसी की चाय बहुत ही फायदेमंद होती है। चाय बनाते समय ध्यान रखें कि चाय का पानी जबतक आधा ना हो जाए उसे गैस से उतारे नहीं, इसलिए पानी में अलसी का पाउडर डालकर उसे धीमी आंच में ही पकाएं। इसमें शहद, गुड़ या शक्कर मिलाकर पीने से और भी फायदा होता है।
नहीं होने देगा हार्ट अटैक
अलसी हृदय रोगों से आपको बचाता है। इसमें उपस्थित घुलनशील फाइबर्स, प्राकृतिक रूप से आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है। इससे हृदय की धमनियों में जमा कोलेस्ट्रॉल घटने लगता है और रक्त प्रवाह बेहतर होता है। इसके कारण हार्ट अटैक की संभावना नहीं के बराबर होती है ।
दमा के रोगी के लिए बहुत उपयोगी
दमा के रोगी अलसी का जरूर सेवन करें। आधे ग्लास पानी में एक चम्मच अलसी के पाउडर को 12 घंटे तक भिगो दें और उसका सुबह-शाम छानकर सेवन करें। इस तरह से अलसी के सेवन से दमा के रोगी को बहुत फायदा होता है। अलसी के पानी को काँच या चाँदी के ग्लास में पीने पर फायदा ज्यादा होता है।
बच्चों को खिलाएं अलसी
अलसी शरीर में ऊर्जा का प्रवाह भी करता है। कमजोरी के समय इसके सेवन से कमजोरी दूर होती है। बच्चों की थकान दूर करने के लिए भी अलसी दे सकते हैं। समान मात्रा में अलसी पाउडर, शहद, खोपराचूरा, मिल्क पाउडर व सूखे मेवे मिलाकर बच्चों को अलसी खिलाने पर उन्हें ताकत मिलेगी। बच्चें अलसी के सेवन से मांसपेशियों की थकान से जल्दी उभर पाते हैं।
डायबीटिज में भी फायदेमंद है अलसी
डायबीटिज के रोगी के लिए भी अलसी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें कार्बोहाइट्रेट अधिक होता है और शक्कर की मात्रा न्यूनतम होती है। डायबीटिज के रोगी रोटी बनाने के समय आटे में मिलाकर अलसी का सेवन कर सकते हैं। अलसी इन्सुलिन की आवश्यकता को कम करता है, जिससे डायबिटीज मलाइटिस के रोगियों को आराम मिलता है।
मोटापा घटाने में भी कारगर
अलसी वसा को पिघलाता है, इसलिए अगर आप अपने मोटापे से परेशान हैं, तो अलसी का सेवन जरूर करें।
खूब पीयें पानी
अलसी सेवन के दौरान खूब पानी पीना चाहिए। इसमें अधिक फाइबर होता है, जिसके कारण इसका सेवन करने पर आपके शरीर में पानी की मांग बढ़ जाती है।