अवैध रूप से रह रहे विदेशियों को दिखाएं प्रदेश से बाहर का रास्ता: सीएम योगी

म्यांमार। रोहिंग्या मुसलमानों को शरण दी जाए या नहीं इसको लेकर देश में चल रही बहस के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों के खिलाफ सख्त रुख दिखाया है। सीएम ने सभी जोन के एडीजी-आईजी के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में आला अफसरों को निर्देश दिए कि जिलों में सर्वे कराकर अवैध रूप से रह रहे विदेशियों खासकर बांग्लादेशियों को प्रदेश से बाहर खदेड़ा जाए। आंकड़ों के मुताबिक अकेले लखनऊ में 90 हजार बांग्लादेशी अवैध रूप से रह रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यों की सीमावर्ती जिलों में विशेष निगरानी रखते हुए संदिग्ध व्यक्तियों की अवैध घुसपैठ रोकने के लिए सघन जांच अभियान चलाया जाए। प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त और अपराध मुक्त बनाने के लिए पुलिस को और बेहतर ढंग से अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई ऐसी हो कि वे प्रदेश छोडऩे पर मजबूर हो जाएं। सीएम ने अफसरों से कहा कि आपको खुली छूट है। जो सही हो वो करें। मुख्यमंत्री ने मुहर्रम, दुर्गापूजा व दशहरा के दौरान हुई घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने अफसरों को कड़ी चेतावनी दी कि दिवाली और छठ पूजा पर कहीं भी स्थिति खराब होती है तो उसके लिए पुलिस अफसरों को जिम्मेदार माना जाएगा। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।