BREAKING NEWS
Search

आपकी सुस्ती हो सकती है इन बीमारियों का संकेत

दिनभर के काम के बाद शरीर का थक जाना और ऊर्जा का खत्म हो जाना सामान्य है। आमतौर पर अगर आप सही से भोजन नहीं करते हैं या पूरी नींद नहीं सोते हैं, तो आपके शरीर में ऊर्जा की कमी होना और चेहरे का बुझा-बुझा होना लाजमी है। इस्तेमाल से ऊर्जा खत्म ही होगी, इसीलिए तो हमें हर दिन नई ऊर्जा और स्फूर्ति के लिए पौष्टिक आहार और भरपूर नींद की जरूरत पड़ती है। लेकिन कई लोग बिना कोई काम किए हुए भी हमेशा थका हुआ महसूस करते हैं, जैसे उनके शरीर में कोई ऊर्जा ही न हो। अगर आप इसे भी सामान्य समझते हैं तो ठहर जाइये! लगातार सुस्ती और थकान एक तरह की शारीरिक अव्यवस्था है और इसका कारण कई गंभीर रोग भी हो सकते हैं। आइये हम आपको बताते हैं कि शरीर में लगातार ऊर्जा की कमी और सुस्ती यानि लिथार्जी, किन बीमारियों का संकेत हो सकती है।
एनीमिया
एनीमिया ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर में आयरन की कमी हो जाती है। इस बीमारी का शिकार सबसे ज्यादा महिलाएं होती हैं क्योंकि पीरियड्स और प्रेगनेंसी में महिलाओं के शरीर से खून ज्यादा निकल जाता है। इसके अलावा स्तनपान के समय भी महिलाओं के शरीर में आयरन की आवश्यक्ता ज्यादा हो जाती है। एनीमिया के कारण शरीर का रंग पीला पड़ सकता है लेकिन कमजोरी और थकान इसका प्रमुख लक्षण है।
डायबिटीज
आपकी लगातार थकान और सुस्ती की वजह डायबिटीज भी हो सकती है। ज्यादा प्यास लगना, बार-बार पेशाब लगना और थकान आदि डायबिटीज के प्रमुख शुरुआती लक्षण हैं। दरअसल डायबिटीज होने पर शरीर में ग्लूकोज की मात्रा का असंतुलन हो जाता है। ग्लूकोज की सही मात्रा शरीर में एनर्जी के लिए जरूरी है इसलिए आपकी सुस्ती का कारण डायबिटीज भी हो सकती है।
थायरॉइड
थायरॉइड की समस्या भी आपकी थकान की वजह हो सकती है। थायरॉइड गले के निचले हिस्से में स्थित ग्रंथियों से निकलने वाला हार्मोन है जो शरीर के मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करता है। इसी हार्मोन के असंतुलन के कारण शरीर में कई तरह की परेशानियां शुरू हो जाती हैं। इन परेशानियों में थकान और सुस्ती भी एक परेशानी है, जो थायरॉइड रोग का शुरुआती लक्षण हो सकता है।
लिवर की समस्या
लगातार सुस्ती और चिड़चिड़ापन लिवर की समस्या का संकेत भी हो सकता है। लिवर शरीर का महत्वपूर्ण भाग है जो आहार में लिए गए भोजन और पेय पदार्थों को ऊर्जा में बदलकर शरीर के अंगों को ये ऊर्जा सप्लाई करता है। अगर आपको ड्रग्स लेने, एल्कोहल लेने या फास्ट फूड्स की आदत है, तो सबसे पहले आपका लिवर ही प्रभावित होता है। लिवर की समस्या में थकान, सुस्ती और कमजोरी के अलावा हल्का बुखार, भूख कम लगना और शरीर में दर्द भी इसके लक्षण हैं।
दिल की बीमारियां
आपकी लगातार सुस्ती की वजह दिल की किसी गंभीर बीमारी की तरफ भी इशारा हो सकती है। हार्ट अटैक के लगभग 70 प्रतिशत मामलों में महीनों पहले से सुस्ती और थकान की शिकायत देखी गई है। दिल की बीमारियों में हार्ट अटैक के अलावा, हार्ट ब्लॉकेज, हार्ट फेल्योर आदि भी शामिल हैं। इन बीमारियों से बचाव के लिए अपने आहार को संतुलित और पौष्टिक रखें।