आयुष्मान, किसान, रोजगार के सहारे 2019 की तकदीर बनाएंगे पीएम

कर्नाटक। कर्नाटक चुनाव प्रचार से फुर्सत पाने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेपाल की यात्रा पर चले जाएंगे। दो दिन (11-12 मई) की नेपाल यात्रा से लौटने के बाद प्रधानमंत्री का मुख्य ध्यान केन्द्र सरकार के चार साल पूरे होने पर रहेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय भी इसकी तैयारियों में व्यस्त है। चार साल के कामकाज को बताने के लिए सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, कृषि मंत्रालय, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, रेल मंत्रालय, ऊर्जा मंत्रालय समेत अन्य की व्यस्तता भी बढ़ गई है। कुल मिलाकर सरकार की योजना आयुष्मान स्वास्थ्य बीमा योजना, युवाओं के लिए रोजगार के अवसर तथा किसानों की स्थिति सुधारने के लिए सरकार द्वारा किए गए प्रयास को प्रमुखता से बताने की है। केन्द्र सरकार के एक सचिव स्तर के अधिकारी का कहना है कि सरकार ने काफी काम किया है। सभी मंत्रालय इसका लेखा-जोखा तैयार कर रहे हैं। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय देश की जनता को इसकी जानकारी देने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। इसके लिए केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी और केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ मंत्रालय के अधिकारियों के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं। हर साल की तरह इस बार भी केन्द्र सरकार के मंत्री, सांसद जनता के बीच में जाकर इसका प्रचार-प्रसार करेंगे। इसके अलावा सोशल मीडिया सेल भी सरकार के कामकाज के प्रसार के लिए काफी सक्रिय रहेगा। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार केन्द्र सरकार का मुख्य ध्यान रोजगार की स्थिति को लेकर है। केन्द्र सरकार यह संदेश देने जा रही है कि देश की आर्थिक स्थिति प्रगति के अनुकूल है। आने वाले समय में रोजगार के बड़े पैमाने पर अवसर उपलब्ध होंगे और देश का तेज गति से आर्थिक विकास होगा।रोजगार के साथ-साथ सरकार की प्राथमिकता में गरीब और किसान हैं। किसानों की आय लागत का दो गुना करने के संदर्भ में कृषि मंत्रालय समेत अन्य लगातार प्रधानमंत्री के दिशा-निर्देशों के अनुरुप कार्य कर रहे हैं। इसके लिए राज्य सरकारों के साथ तालमेल बनाकर नीतियों को आगे बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी तरह से प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना को लेकर खासा रुचि ले रहे हैं। इसे भाजपा के नेता भी गेम चेंजर मान रहे हैं।