आरएएस भर्ती 2016 को रद्द करने के फैसले पर रोक

जोधपुर। हाईकोर्ट की खंडपीठ ने आज आरएएस भर्ती प्रक्रिया-2016 की चयन प्रक्रिया निरस्त करने के एकल पीठ के फैसले पर रोक लगा दी। इससे आरपीएससी को राहत मिली है। गत दिनों हाई कोर्ट की एकल पीठ ने आरएस प्री-परीक्षा का रिजल्ट दोबारा जारी करने के आदेश दिए थे। आरपीएससी द्वारा गुर्जर सहित 5 जातियों को प्रस्तावित किए गए एसबीसी आरक्षण मामले में कोर्ट द्वारा पहले दिए गए आदेश नहीं मानने पर यह निर्णय दिया गया। इसके खिलाफ आरपीएससी ने खंडपीठ में याचिका दायर की। उल्लेखनीय है कि निधि 18 अन्य की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीश एसपी शर्मा ने कहा कि आरपीएससी ने कोर्ट के निर्देशों की अवमानना की। हाईकोर्ट ने 9 दिसंबर 2016 को गुर्जर सहित 5 जातियों को एसबीसी में 5′ आरक्षण देने वाले अधिनियम-2015 को रद्द किया था। इस भर्ती में भी आदेश का पालन होना था। आरपीएससी ने आरएएस प्री का पहले 15 नवंबर, फिर एक दिसंबर 2016 को संशोधित परिणाम जारी किया, लेकिन आदेश नहीं माना। संशोधित परिणाम में एसबीसी के लिए अलग कटऑफ बनाई। सुप्रीम कोर्ट ने भी चयनित अभ्यर्थियों की याचिका पर 9 मई 2017 को सुनवाई की और उन्हें तदर्थ नियुक्तियां देने का निर्देश दिया, लेकिन एसबीसी में नियुक्ति नहीं देने को कहा था।