आवंटित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रयास करें अधिकारी

– संयुक्त निदेशक ने दिए मंडी शुल्क बढ़ाने के निर्देेश
श्रीगंगानगर। कृषि विपणन विभाग के क्षेत्रीय संयुक्त निदेशक शिवसिंह भाटी ने श्रीगंगानगर खंड की समस्त मंडियों के सचिवों से कहा कि वे आवंटित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए प्रयास करें। साथ ही मंडी शुल्क बढ़ाने के लिए भी कार्ययोजना बनाकर उस पर काम करें। शुक्रवार दोपहर को कृषि विपणन विभाग के क्षेत्रीय संयुक्त निदेशक कार्यालय में आयोजित बैठक में सचिवों को निर्देशित करते हुए भाटी ने मंडी शुल्क की कम प्राप्ति का जिक्र करते हुए इसे बढ़ाने के निर्देश दिए। श्रमिक कल्याण, राजीव गांधी कृषक सहायता और कलेवा योजना की समीक्षा करते हुए संयुक्त निदेशक ने इनके नियमित निरीक्षण और संबंधित प्रकरणों में पात्र को तुरंत लाभ पहुंचाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्याप्त अवधि में प्राप्त प्रकरणों को निपटाने के प्रयास करने के साथ-साथ मंडी समिति की आय भी बढ़ाने पर जोर दिया जाए। इसके लिए खंड की सभी मंडी समितियों के सचिव आय संबंधी लक्ष्यों की अधिकतम प्राप्ति के प्रयास करें।
मंडी मेंं परिसम्पति आवंटन संबंधी प्रकरणों में आवश्यक कार्रवाई करने के लिए आदेशित करते हुए संयुक्त निदेशक ने कहा कि विभागीय अधिकारी राजस्थान सम्पर्क पोर्टल को रोजाना खोलकर देखें और दर्ज प्रकरणों का उसी दिन यथासंभव निस्तारण करने का प्रयास करें। बैठक में संयुक्त निदेशक ने कर्मचारियों के परिवदेना प्रकरणों को भी जल्द निपटाने के आदेश देते हुए कहा कि कृषि जिंंसों सहित मूंग की सरकारी खरीद में भी एजेंसी को सहयोग दिया जाए। उन्होंने मंडी परिसर में सुरक्षा व्यवस्था को प्रभावी बनाने की आवश्यकता जताई ताकि कृषि जिंसों की चोरी न हो सके। इस अवसर पर कृषि विपणन अधिकारी दीपक अग्रवाल, अनाज मंडी के सहायक सचिव रमेश कुक्कड़, गंगानगर फल-सब्जी मंंडी समिति से हेमराज गुरहानी, केसरीसिंहपुर से दिनेश शर्मा, श्रीकरणपुर से सुरेंद्र खोथ, गजसिंहपुर-घड़साना से महिपाल माली, जैतसर-श्रीबिजयनगर-अनूपगढ़ से सूबेसिंह रावत और पदमपुर-रिड़मलसर के सचिव पवन भास्कर और क्षेत्रीय संयुक्त निदेशक कार्यालय के रतन सिंह भी मौजूद रहे।