उपवास के दौरान कॉफी पीना चाहिए या नहीं

नवरात्रि के नौ दिन लोग न केवल शक्ति की आराधना करते हैं बल्कि उपवास भी रखते हैं। आधुनिक जीवनशैली से जुड़ी कई चीजें हैं, जिनके बारे में यह स्पष्ट नहीं है कि उपवास के दौरान उनका सेवन करना चाहिए या नहीं। ऐसी ही एक चीज है कॉफी। यूंं तो भारत में लोग चाय ज्यादा पसंद करते हैं, लेकिन यंग जनरेशन में कॉफी का क्रेज है।
सवाल यह है कि क्या उपवास के दौरान कॉफी पीना सही है? इसका उत्तर सीधा नहीं है। कुछ लोगों का कहना है कि उपवास के दौरान केवल चाय पी जा सकती है, वहीं कॉफी वाले अपनी दलील देते हैं।
जानकारों का कहना है कि धार्मिक किताबों में इस तरह के कोई स्पष्ट नियम तो लिखे नहीं हैं। ये नियम तो लोगों ने अपनी सुविधा से बनाए हैं। यहां बात शरीर की शुद्धि की है। ऐसे में यदि कोई खुद को चाय या कॉफी से दूर रखता है तो अच्छी बात है। वहीं खुद को एक्टिव रखने के लिए यदि कोई इनका सेवन करता है तो उसे भी गलत नहीं ठहराया जा सकता है।
वर्षों से नवरात्रि के उपवास करने वाले कई परिवारों में चाय और कॉफी के साथ ही अन्य तरल पदार्थों जैसे- छाछ, ज्यूस आदि के सेवन का चलन है। हां, ये लोग बाजार में मिलने वाले पैकेज्ड या प्रोसेस्ड ब्रेवरेजेस से खुद को दूर रखते हैं।
ये कहते हैं कॉफी नहीं पीना: एक धड़ा ऐसा भी है जो कहता है कि कॉफी में चाय की तुलना में बहुत अधिक कैफीन होता है, इसलिए चाय पी जा सकती है, लेकिन कॉफी नुकसानदायक है।