BREAKING NEWS
Search

एनआरआई की लाश को लेकर घर में परिजनों का धरना

– पुलिस अधिकारी समझाइश में जुटे
– होलैण्ड से आई पत्नी
– कई युवक राउण्डअप
गजसिंहपुर। एनआरआई हत्याकांड को लेकर परिजनों ने पुलिस के खिलाफ बगावत कर दी है। परिजनों ने अपने ही घर में लाश के साथ धरना शुरू कर दिया है। इससे पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। पुलिस के अधिकारी परिजनों के साथ समझाइश करके शव का अंतिम संस्कार करवाने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस ने हत्याकांड में शामिल होने के अंदेशा में कई युवकों को राउण्डअप किया है। पुलिस शीघ्र ही हत्याकांड का खुलासा करने की स्थिति में पहुंच जायेगी। जानकारी के अनुसार तीन दिन पूर्व गजङ्क्षसहपुर पुलिस थाना में चक 9 आरबी के निकट तीन दिन पूर्व अज्ञात लोगों ने एनआरआई हरदीप सिंह उर्फ पप्पा सिंह निवासी 31 एमएल मुकलावा की हत्या कर दी थी। उसे गंभीर हालत में जिला मुख्यालय के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, वहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया था। पुलिस ने 12 नवम्बर को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।
उस समय तक पुलिस को आभास तक नहीं था कि परिजन घर जाकर शव के साथ धरना शुरू कर देंगे। परिजनों ने हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। 13 नवम्बर को अंतिम संस्कार नहीं होने पर पुलिस सक्रिय हुई। परिजनों की सूचना होलैण्ड (विदेश) से हरदीप सिंह की पत्नी भी मुकलावा में पहुंच चुकी है।
पुलिस ने आज मृतक के भाई जसवंत सिंह, रिश्तेदारों व गांव के अन्य मौजिज लोगों को वार्ता के लिए गजसिंहपुर पुलिस थाना में बुलाया। पुलिस प्रशासन की ओर से रायसिंहनगर के पुलिस उप अधीक्षक आनन्द स्वामी, श्रीकरणपुर के सीओ सुनील के.पंवार व थानाधिकारी राजाराम वार्ता में शामिल हुए। पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को आश्वासन दिया कि हत्याकांड का खुलासा करने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस ने पूछताछ के लिए कई युवकों को व एक महिला को राउण्डअप किया है।
इनसे पूछताछ की जा रही है। शीघ्र पुलिस किसी नतीजे पर पहुंच जायेगी। आज दोपहर समाचार लिखे जाने तक पुलिस व परिजनों की वार्ता चल रही थी। गौरतलब है कि हरदीप सिंह जर्मनी में रहता था। वह कई दिनों से अपने गांव आया हुआ था। होलैण्ड में पत्नी के अलावा उसकी इस इलाके में भी दो पत्नियां थी। वह कुछ समय बाद जर्मनी वापिस जाने वाला था, लेकिन इसी बीच उसकी हत्या हो गई। अज्ञात लोगों ने पीट-पीट कर हरदीप ङ्क्षसह की हत्या कर दी थी। मृतक के भाई जसवंत सिंह ने अज्ञात लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवाया था।