एमपी में लागू होगा अनाज की जगह नकद सबसिडी का फार्मूला

भोपाल। मध्यप्रदेश में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के हितग्राहियों को रियायती दर पर राशन देने की जगह नकद सबसिडी देने का फार्मूला लागू होगा। इसमें एक रुपए में राशन दुकान से दिए जाने वाले गेहूं, चावल और नमक की जगह सबसिडी की राशि सीधे खाते में जमा कराई जाएगी। यह प्रयोग राजधानी भोपाल से सटी नगर परिषद रायसेन के औबेदुल्लागंज और होशंगाबाद के सोहागपुर में किया जाएगा। योजना लागू करने के लिए खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग ने केंद्र सरकार से अनुमति मांगी है। सरकार ने राशन बांटने की जगह नकद सबसिडी देने का फैसला सार्वजनिक वितरण प्रणाली को लेकर शिकवा-शिकायत के मद्देनजर किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान नकद सबसिडी देने की योजना पर विचार करने के निर्देश दिए थे। दरअसल, पीडीएस के राशन में गड़बड़ी और समय पर वितरण नहीं होने को लेकर शिकायतें आम हैें। इसके मद्देनजर विभाग ने हितग्राही को आधार से लिंक करने का प्रयास भी किया पर यह अब तक पूरी तरह नहीं हो पाया है। इसकी वजह से प्रदेश में कई जगह पीओएस (पॉइंट ऑफ सेल) मशीन के जरिए पहचान पुख्ता करके राशन वितरण का काम शुरू नहीं हो पा रहा है।