एल सुब्रह्मण्यम ने विशेष राग से दी 9/11 हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि

वाशिंगटन। भारतीय वायलिन के भगवान कहे जाने वाले डॉ. एल सुब्रह्मण्यम ने न्यूयॉर्क के ट्विन टॉवर पर 16 साल पहले हुए हमले में मारे गए लोगों को अपने संगीत के माध्यम से श्रद्धांजलि दी। विख्यात भारतीय संगीतज्ञ के संगीत से लोग यहां मंत्रमुग्ध हो गए। यह कार्यक्रम जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय में आयोजित हुआ और वहां मौजूद श्रोताओं ने खड़े होकर सुब्रह्मण्यम ने लिए तालियां बजाईं। इस कार्यक्रम में दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की कार्यवाहक विदेश उप मंत्री एलिस जी वेल्स और व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में दक्षिण एशिया विभाग का नेतृत्व करने वाली लीजा कुर्टिस भी मौजूद थीं। अमेरिका में भारत के राजदूत नवतेज सरना ने अपने संबोधन में कहा कि एक और भी 9/11 है जिसे पूरी दुनिया 125 साल पहले विवेकानंद द्वारा शिकागो में दिए गए ऐतिहासिक भाषण के रूप में जानती है। उन्होंने कहा कि विवेकानंद द्वारा दिया गया संदेश प्रेम, सौहार्द और भाईचारे का था। सरना ने कहा, “यह कंसर्ट उन लोगों को समर्पित है, जिन्होंने आतंकी हमले में अपना जीवन खो दिया। हम दूसरे 9/11 के संदेश को फैलाने की आशा करते हैं।” इस कंसर्ट की शुरुआत 9/11 पीडि़तों को श्रद्धांजलि देते हुए विशेष राग से हुई। सरना ने बताया कि 11 सितंबर को आयोजित यह संगीत समारोह आतंकवाद के खिलाफ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने और मृतकों को श्रद्धांजलि देने की भारत और अमेरिका के बीच मजबूत प्रतिबद्धता की संयुक्त अभिव्यक्ति है।