BREAKING NEWS
Search

एसआई को गाड़ी से नीचे पटका, लात-घूसों से मारपीट

– हवाई फायर करके एसआई ने बचाई जान
हनुमानगढ़। टिब्बी पुलिस थाना क्षेत्र के गांव 6 आरपी में भीड़ ने एक एसआई को सरकारी गाड़ी से नीचे पटक लिया और लात घुसों से पिटाई कर दी। चौतरफा घिरने के बाद एसआई ने सर्विस रिवाल्वर से हवाई फायर करके खुद की जान बचाई। पुलिस ने इस मामले में कई ग्रामीणों के खिलाफ राजकार्य में बाधा पहुंचाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है।
थाना प्रभारी एसआई रघुवीर सिंह की ओर से गांव 6 आरपी में पुलिस पर हमला करने के आरोप में इसी गांव के अमरचंद पुत्र श्योकरण, संदीप पुत्र रूलीचंद, भालाराम, चेतराम, महेन्द्र, कालू, मांगीलाल, गांव खारी सुरेरां निवासी बलवीर ङ्क्षसह, कृष्ण, रामस्वरूप, सोनू, साहबराम, मूलाराम व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। थाना प्रभारी ने बताया कि वह गांव मिर्जेवाली मेर में सीएलजी की मीटिंग लेने गये थे। वापिसी में आम्र्स एक्ट के एक मुकदमे का मौका नक्शा बनाने के लिए गांव 6 आरपी में रूक गये। उनके साथ आम्र्स एक्ट के मुकदमे में जांच अधिकारी व मसीतावाली हैड पुलिस चौकी प्रभारी रायङ्क्षसह भी साथ थे।
मौका नक्शा बनाने के दौरान आरोपियों ने एसआई रायङ्क्षसह को सरकारी जीप से नीचे उतार लिया और नीचे पटक कर लात घुसों से मारपीट की। उन्होंने छुड़वाने का प्रयास किया, तो हमलावरों ने उनके साथ भी धक्का मुक्की की। आरोपियों ने एसआई से सरकारी पिस्टल छीनने का प्रयास किया। एसआई ने अपनी जान बचाने के लिए हवाई फायर किया, तो भीड़ पीछे हट गई। आरोपियों ने जीप का शीशा तोड़ दिया और चालक से जीप की चाबी छिनने का प्रयास किया।
जमीन के मामले में गई थी पुलिस
टिब्बी। गांव डबली में स्थित कृषि भूमि को लेकर दो पक्षों में विवाद चल रहा है। एक पक्ष के परिवाद पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। पुलिस के साथ कुछ युवक भी थे। इन युवकों ने जब जमीन पर काबिज लोगों के साथ मारपीट करने शुरू की, तो इन लोगों ने गांव के घरों में घुस कर जान बचाई। पुलिस व उसके साथ गये युवकों ने घरों में छुपे लोगों को बाहर निकाला और मारपीट की।
पुलिस की इस कार्रवाई के विरोध में ग्रामीणों ने एसपी को ज्ञापन देकर आरोप लगाया कि टिब्बी पुलिस बिना किसी कारण के उनके घरों में घुस गई। कुछ लोगों ने मारपीट से बचने के लिए उनके घरों में शरण ली थी, लेकिन पुलिस ने उनके घरों में छापेमारी क्यों की। यह मामला उजागर होने के बाद पुलिस ने अपने बचाव के लिए गांव 6 आरपी के ग्रामीणों पर राजकार्य में बाधा पहुंचाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया।