कठुआ में सैन्य वर्दी में फिर दिखे दो संदिग्ध

कठुआ। जम्मू-कश्मीर में हीरानगर से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास गांव जंगी चक में लोगों को मंगलवार देर रात फिर दो संदिग्ध दिखे, जो सेना की वर्दी में पि_ू उठाए जा रहे थे। ग्रामीणों ने तुरंत पुलिस को सूचित किया। इसके बाद रात में ही पुलिस व सीआरपीएफ ने नाके लगाकर बुधवार सुबह साढ़े नौ बजे तक घुसपैठ के मार्ग तरनाला नाले में तलाशी अभियान चलाया, लेकिन संदिग्धों का कोई सुराग नहीं मिला। उल्लेखनीय है कि जंगी चक गांव बोबिया और तरनाह नाले के किनारे ठीक उसी मार्ग पर पड़ता है, जहां गत रविवार को चार-पांच संदिग्ध दिखे थे। बाद में बीएसएफ के अधिकारियों ने आतंकियों द्वारा सुरंग बनाकर भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने की पुष्टि भी की थी। अब फिर उसी मार्ग पर दो संदिग्ध दिखे जाने से लोग दहशत में हैं। हीरानगर का बोबिया सीमांत क्षेत्र शुरू से ही आतंकियों के लिए घुसपैठ का सुरक्षित मार्ग रहा है। पिछले दो वर्षों में भारतीय सुरक्षाबलों ने इस स्थान पर घुसपैठ करने कई प्रयास नाकाम बनाए हैं। समय-समय पर इसी पोस्ट के समीप से अक्सर आतंकी घुसपैठ करने का प्रयास करते हैं। बताया जा रहा है तरनाह नाले के आसपास की तारबंदी मजबूत नहीं है। बारिश होने पर तार पानी के बहाव में बह जाती है, जिससे आतंकियों को घुसपैठ करना आसान हो जाता है।