BREAKING NEWS
Search

कत्ल के बाद कातिलों के ट्रेन में भागने की आशंका

– चौकीदार की हत्या से जुड़ा मामला द्य सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है पुलिस
श्रीगंगानगर। रविवार की रात प्रताप मार्केट में चौकीदार उमेश पांडे की हत्या करने वाले अज्ञात कातिलों के वारदात के बाद रेलवे स्टेशन से पकड़ी किसी ट्रेन में भागने की आशंका है। पुलिस की अब तक की जांच पड़ताल में युवकों के रेलवे स्टेशन तक पहुंचने के कुछ सुराग हाथ लगे हैं। कोतवाली पुलिस थाना प्रभारी राहुल यादव ने बताया कि 50 वर्षीय उमेश पांडे निवासी वार्ड नम्बर 3 भरतनगगर के पीछे, पुरानी आबादी रविवार रात को पहली बार प्रताप मार्केट में चौकीदारी करने आया था। घटनास्थल से मिले मालूमात के अनुसार प्रताप मार्केट में चोरी की नियत से आये तीन अज्ञात युवकों ने चौकीदार उमेश पांडे की नींद से जगाने पर हत्या कर दी। संभवत: अज्ञात युवक मार्केट में चोरी करने आये और चौकीदार की आंख खुल गई। उस वक्त उमेश पांडे दुकान नम्बर 48-49 प्रताप मार्केट के आगे चबूतरे पर सो रहा था। पुलिस को आशंका है कि चौकीदार की नींद खुलने पर पकड़े जाने के भय से तीनों युवकों ने रात करीब दो बजे चौकीदार के सिर में घातक वार करके उसे सदा के लिए शांत कर दिया।
वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस ने मार्केट व मुख्य चौराहों के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला। इसमें कातिलों के तीन होने व रेलवे स्टेशन की तरफ जाते हुए कुछ सुराग हाथ लगे हैं। ऐसे में पुलिस ने जांच का दायरा बढ़ा दिया है। थाना प्रभारी ने बताया कि उमेश पांडे माली का काम करता था। गरीब परिवार से है। उसका बेटा भी प्रताप मार्केट में कपड़े की एक दुकान पर काम करता है। उमेश पांडे की किसी से दुश्मनी होने की बात अभी तक सामने नहीं आई। अज्ञात तीन युवकों ने उमेश पांडे की हत्या करने के बाद पास ही स्थित जगदीश हैण्डलूम का ताला तोड़ दिया और गल्ले में रखी करीब पांच सौ रुपए की नगदी चोरी कर ली। पुलिस इस मामले की तहकीकात में लगी हुई है। उन्हें उम्मीद है पुलिस जल्द ही ब्लाइंड मर्डर का खुलासा कर देगी। गौरतलब है कि रविवार सुबह उमेश पांडे का रक्तरंजित शव प्रताप मार्केट में एक दुकान के आगे पड़ा था। पुलिस ने रविवार को ही पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के हवाले कर दिया था। मकतूल के पुत्र विनय कुमार की रिपोर्ट पर अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।