कनार्टक में कांग्रेस की करारी हार

– मतगणना में भाजपा को 113 सीटों पर मिल रही बढ़त
– नतीजों का असर राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में पडऩा
बेंगलुरु। कर्नाटक विधानसभा चुनाव कांग्रेस हार गई है. कांग्रेस ने भी इस हार को मान लिया है. राहुल की अगुवाई में कांग्रेस का जीतना बहुत जरूरी था क्योंकि इसके नतीजों का असर राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित लोकसभा के चुनाव में भी पडऩा तय है.
इस चुनाव के बाद बीजेपी निश्चित तौर पर दक्षिण में और मजबूती हासिल करेगी।
कर्नाटक की 222 सीटों पर हुई मतगणना के नतीजों में जहां भाजपा को 113 सीटों पर बढ़त मिल रही है वहीं कांग्रेस 68 सीटों पर आगे है। राज्य में किंग मेकर मानी जा रही जेडीएस 39 सीटों पर आगे चल रही है। कांग्रेस के सीएम उम्मीदवार सिद्धारमैया चामुंडेश्वरी सीट पर 25 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं वहीं बादामी सीट पर कुछ सौ मतों से आगे हैं। वहीं भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार येदयुरप्पा शिकारपुरा सीट से आगे चल रहे हैं।
मतगणना के दौरान आ रहे रुझानों ने पूरी भाजपा में जोश भर दिया है और बेंगलुरु से लेकर दिल्ली तक जश्न शुरू हो गया है। बेंगलुरु में जहां पार्टी दफ्तर पर कार्यकर्ता नाचते-गाते नजर आए वहीं दिल्ली में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को मिठाई खिलाकर जीत की बधाई दी।
वीआईपी सीटों की बात करें तो वरुणा से सिद्दरमैया के बेटे यतींद्र आगे चल रहे हैं। दावणगेरे से मल्लिकार्जुन खडग़े के बेटे पीछे चल रहे हैं। बेल्लारी से रेड्डी बंधुओं को शुरुआती बढ़त मिल रही है। एचडी देवेगौड़ा के दोनों बेटे एचडी कुमार स्वामी रामनगर और एचडी रेवन्ना होलनर्सीपुरी आगे चल रहे हैं।
राज्य में 222 सीटों के लिए 12 मई को हुए मतदान के बाद आज चुनाव मैदान में उतरे 2654 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला हो रहा है। इनमें से 216 महिला उम्मीदवार हैं।