कांग्रेस महाधिवेशन पर मच्छरों का हमला, परेशान सोनिया गांधी बीच में ही चली गईं बाहर

नई दिल्ली। दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में कांग्रेस के 84वें अधिवेशन पर लाकों रुपए खर्च किए गए लेकिन फिर भी पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी इस दौरान खासी परेशान दिखीं। सोनिया गांधी की परेशानी का सबब थे मच्छर।
कांग्रेस को इस अधिवेशन के लिए रोजाना लाखों रुपए किराया भरना पड़ा, इसके बावजूद सभी कांग्रेस नेता मच्छरों से परेशान दिखे। स्टेडियम में मच्छरों का प्रकोप इतना था कि सोनिया गांधी को इसकी वजह से अधिवेशन को बीच में छोड़कर बाहर जाना पड़ा। सोनिया की करीबी अर्चना डालमिया ने उन्हें सलाह दी कि शॉल से खुद को अच्छे से कवर कर लें और हाथ भी अंदर रखें।यहां तक कि डालमिया ने सोनिया को मच्छरों को भगाने के लिए एक ट्यूब भी लाकर दी लेकिन थोड़ी देर बाद वो भी बेनतीजा हो गई। इस दौरान राहुल भी अपनी मां को पीछे से शॉल से कवर करते दिखे। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी ने तीन बार वहां फॉगिंग कराई, लेकिन फिर भी मच्छरों पर कोई असर नहीं दिखा। उन्होंने कहा कि यह सरकारी स्टेडियम है , जरा सोचिए खिलाडिय़ों का यहां क्या हाल होता होगा। उन्होंने कहा कि इस समस्या से निपटने की जिम्मेदारी सरकार की है। सोनिया गांधी के अलावा कांग्रेस के के समस्त कार्यकत्र्ता भी मच्छरों से खुद को बचाते दिखे।