‘कायाकल्प’ में हनुमानगढ़ को सांत्वना, गंगानगर को वो भी नहीं

– चूनावढ़ सीएचसी ने बचाया मान
श्रीगंगानगर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ‘कायाकल्पÓ योजना में गंगानगर फिर पिछड़ गया है। पड़़ोसी जिले हनुमानगढ़ को अबकि बार ‘कायाकल्पÓ में सांत्वना पुरस्कार मिला जबकि गंगानगर को उसके लायक भी नहीं समझा गया। इसके उलट हनुमानगढ़ ‘कायाकल्पÓ में एक-एक बार पहले और दूसरे नंबर पर रहकर राज्य स्तर पर सम्मानित हो चुका है।
पिछले दिनों ‘कायाकल्पÓ के तहत घोषित पुरस्कारों में गंगानगर के जिला राजकीय चिकित्सालय को फिर से शामिल नहीं किया गया। पहले, दूसरे और तीसरे पुरस्कार तो छोडिय़े गंगानगर को सांत्वना पुरस्कार के काबिल भी नहीं समझा गया। इसकेे उलट हनुमानगढ़ जिला ‘कायाकल्पÓ में दो बार राज्य स्तर पर पुरस्कृत होने के बाद इस बार सांत्वना पुरस्कार पाने में सफल रहा।
इससे पहले हनुमानगढ़ को दूसरा और गत वर्ष पहला पुरस्कार मिल चुका है। सांत्वना पुरस्कार के तहत हनुमानगढ़ को 3 लाख रुपए मिलेंगे। इसी तरह योजना की सामुदायिक स्वास्थ्य श्रेणी में गंगानगर के चूनावढ़ और हनुमानगढ़ की धोलीपाल को सांत्वना पुरस्कार मिला है। गौरतलब है कि गंगानगर जिला चिकित्सालय में पर्याप्त साफ-सफाई नहीं रहने और अव्यवस्था संबंधी मामले लगातार चर्चा में रहते आए हैं।