काली मिर्च

काली मिर्च का उपयोग सूखे मसाले के रुप मे किया जाता रहा है। काले रंग एवं तीखे स्वाद के कारण काली मिर्च को यह नाम मिला है। यह आकार में छोटी और गोल होती है। इसके ऊपर मोटी-मोटी धारियां होती हैं। सब्जियों में तीखापन लाने के लिए मिर्च की भांति इसका भी प्रयोग किया जाता है।
काली मिर्च के नाम
काली मिर्च को विभिन्न प्रदेशों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। बंगाल में इसे कालो मिर्च एवं गोल मिर्च कहते हैं। तमिल में मिलागु, कन्नड़ में कारे मनसु, उडिय़ा में गोल मिर्च तथा कालामारी बोलते हैं।
काली मिर्च के रुप
इन दिनों काली मिर्च को कई दिनों तक पानी में फुलाकर यंत्रों द्वारा ऊपर के छिलकों को हटाकर काली मिर्च को सफेद बनाया जाने लगा है। विभिन्न पद्धतियों के प्रयोग से काली मिर्च को लाल एवं हरा रंग भी दिया जाने लगा है।
काली मिर्च खाने में
काली मिर्च का प्रयोग भोजन में कई तरीके से किया जाता है। राजमा, छोले एवं अन्य चटपटी सब्जियों को बनाने में भी काली मिर्च का उपयोग होता है। काली मिर्च पाउडर का इस्तेमाल रायता, चटनी एवं सलाद में भी किया जा सकता है। इससे इन चीजों का स्वाद बढ़ जाता है। व्रत में भी इसका सेवन किया जाता है।
काली मिर्च खरीदते समय सावधानियां
काली मिर्च में भी बहुत सी चीजों की मिलावट की जाती है। काली मिर्च में मुख्य रूप से पपीते के बीजों की मिलावट की जाती है। इसलिए जब भी काली मिर्च खरीदें तो विश्वसनिय ब्रांड की ही लें और जहां से खरीद रहे हों वह गुणवत्ता युक्त हो।
काली मिर्च कहां से मिलेगी
काली मिर्च किसी भी स्थानीय, किराना स्टोर या किसी बड़े ग्रोसरी स्टोर से भी प्राप्त कर सकते हैं। आप इसे ऑनलाइन भी खऱीद सकते हैं।