किचन में क्या रखें, क्या न रखें?

घर का सबसे जरूरी भाग है किचन, जहां भोजन बनाया जाता है। लेकिन किचन में भोजन की उपयोगिता को बढ़ाने के लिए, यहां वास्तु का होना जरूरी है। यदि रसोई घर वास्तु आधारित बनी है। या फिर वहां रखे जाने वाला भोज्य पदार्थ वास्तु के अनुसार रखा है तो घर में धन-धान्य की समृद्धि जीवन भर बनी रहती है।
इन बातों का रखें ध्यान
– रसोईघर में गुड़ रखने से पारिवारिक संबंधों में मिठास बनी रहती है।
– रसोईघर में टूटे-फूटे बर्तन नहीं रखना चाहिए क्योंकि इससे घर में अशांति का माहौल बनता है।
– रसोईघर में नमक के पास हल्दी न रखें इससे मतिभ्रम पैदा होता है।
– रसोई घर में किसी भी कारण से रोना नहीं चाहिए क्योंकि ऐसा करने से अस्वस्थता बढ़ती है।
– स्वच्छता का ज्यादा से ज्यादा ध्यान रखना चाहिए क्योंकि स्वच्छता में ही मां अन्नपूर्णा का वास रहता है।
– उत्तर-पश्चिम की ओर रसोई का स्टोर रूम, फ्रिज और बर्तन आदि रखने के लिए जगह न चुनें।
ऐसे भगाएं किचन से राहु
वास्तु के सिद्धांत के अनुरूप टूटे दरवाजे, उखड़ा प्लास्टर, दीवारों में दरारें, पुरानी पेंटिंग या अंधेरा हो तो इन स्थानों पर राहु का निवास हो जाता है। अगर किचन में टांड है और उस पर भी रोशनी नहीं पड़ती है तो वहां भी राहु का निवास माना जाता है।
किचन का धुआं भी बाहर निकलने की व्यवस्था होना चाहिए क्योंकि रुका हुआ धुआं दीवारों पर जमकर उसे खराब करता है और राहु के लिए स्थान बनाता है। जहां राहु होता है वहां नकारात्मक ऊर्जा होती है इसलिए इस तरह की चीजों से बचना चाहिए। अगर किचन की दीवारों का रंग हल्का या काला हो गया हो तो वहां नया रंग करवा लेना चाहिए।