BREAKING NEWS
Search

किसानों ने लगाया कफ्र्यू

– जिले भर में सड़कों पर 48 स्थानों पर चार घंटे तक चक्का जाम, हजारों लोग फंसे
– शहर में न सब्जियां आईं और न मिला दूध, मंडियों में नहीं हुई बोली
श्रीगंगानगर। अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन मेंं आज जब किसान सड़कों पर उतरे तो मानो सब कुछ ठहर गया। किसानों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन करते हुए जिले भर में जगह-जगह जाम लगाकर वाहनों की रफ्तार रोक दी। सुबह आठ बजे से दोपहर बारह बजे तक चार घंटे के लिए किसानों ने जैसे कफ्र्यू ही लगा दिया।
न सड़कों पर कोई वाहन चलने दिया और न ही दूध-सब्जियों और कृषि जिंसें मंडियों में आने दीं। जिला मुख्यालय पर फल-सब्जी और कृषि मंडी में बोली नहीं हुई। सादुलशहर एवं बींझबायला में बाजार बंद रहे। रोडवेज ने ऐहतियात के तौर पर अपनी बसें नहीं चलाईं। प्राइवेट बस वालों ने बसें चलाईं, जिन्हें जगह-जगह रोक लिया गया। किसानों ने साइकिल और मोटर साइकिल तक को नहीं निकलने दिया। दोपहर बारह बजे किसानों ने जाम हटाया तो जन-जीवन सामान्य हो सका।
किसानों का कर्जा माफ करने, स्वामीनाथ कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार उपज का भाव दिलाने, फिरोजपुर फीडर का जीर्णोद्धार कराने, नहरों मेंं केली की समस्या का समाधान करने जैसी विभिन्न मांगों के समर्थन में अखिल भारतीय किसान सभा, किसान संघर्ष समिति, गंग नहर किसान समिति ने चार घंटे के लिए चक्का जाम का आह्वान किया था।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार किसानों के जत्थों ने आज तड़के विभिन्न स्थानों पर मोर्चा संभाल लिया। सरकार विरोधी नारेबाजी के बीच किसानों ने जगह-जगह अवरोध खड़े कर और धरने देकर सड़कों पर वाहनों की आवाजाही ठप कर दी। जिले भर में 48 स्थानों पर जाम लगाया गया।
श्रीगंगानगर में साधुवाली, भागसर, कालूवाला पुल, नाथांवाला पुल, सूरतगढ़ बाईपास चौराहे, महियांवाली के नजदीक गंग नहर पुल, पदमपुर बाईपास चौराहे, मिर्जेवाला फाटक के निकट और तीन पुली पर जाम के कारण वाहनों की लंबी कतारें लग गईं।
कई लोगों ने मुख्य सड़क पर जाम लगा देख वैकल्पिक मार्गों से जाने की कोशिश की तो वहां भी आगे किसान सड़क रोके नजर आए। बसें रोके जाने पर कई जगह लोग पैदल चलते हुए गंतव्य तक जाते दिखाई दिए।
बहुत से लोगों ने जरूरी कार्य के लिए बसों के बजाय ट्रेन में सफर करना उचित समझा। शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जगह-जगह पुलिस तैनात रही। एसपी हरेन्द्र कुमार महावर ने हालात का जायजा लिया।
हनुमानगढ़ जिले में 25 जगह जाम: किसानों के चक्का जाम के चलते सोमवार को जिले भर में जन-जीवन अस्त व्यस्त हो गया। जिले भर में 25 स्थानों पर जाम लगाकर किसानों ने समूची सड़कें रोक दीं। इससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।
किसानों ने मक्कासर, पक्का सहारणा, शेरगढ़, कैंचिया, धोलीपाल, मिर्जावाली मेर, रतनपुरा, नेठराना, अयालकी सहित विभिन्न स्थानों पर जाम लगाया तो दौड़ते वाहनों की रफ्तार थम गई। जगह-जगह फंसे लोग जाम खुलने का इंतजार करते नजर आए। कई जगह लोग पैदल ही गंतव्य तक जाते दिखे। पुलिस कर्मियों ने जगह-जगह तैनात रहकर निगरानी रखी।