केदारनाथ में शाम पांच बजे के बाद भी होगी दर्शनार्थियों की गिनती

रुद्रप्रयाग। इस साल पहली बार पता चलेगा कि केदारनाथ मंदिर में प्रतिदिन कितने यात्री दर्शन करते हैं। अब तक शाम पांच बजे से रात में मंदिर के कपाट बंद होने तक दर्शन करने वाले यात्रियों की गिनती नहीं की जाती, जिससे दर्शनार्थियों की यह संख्या नहीं जुड़ पाती थी। अब प्रशासन व मंदिर समिति के बीच सहमति बनी है कि शाम पांच बजे से रात्रि आठ बजे तक दर्शन करने वाले यात्रियों भी की गिनती की जाएगी। केदारनाथ में दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या को लेकर बीतों वर्षों में सवाल उठते रहे हैं। दरअसल श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति की ओर से अपने रजिस्टर में उन्हीं यात्रियों का आंकड़ा दर्ज किया जाता है, जो अपराह्न तीन बजे से पहले दर्शन कर चुके होते हैं। अपराह्न तीन बजे के बाद लगभग दो घंटे बाबा विश्राम करते हैं, सो इस अवधि में मंदिर की सफाई, बाबा का भोग व श्रृंगार की परंपरा है। इस दौरान शाम पांच बजे तक मंदिर के कपाट बंद रखे जाते हैं। शाम पांच बजे दर्शनों के लिए मंदिर के कपाट फिर खोले जाते हैं, जो रात आठ बजे तक खुले रहते हैं।