केरल के दो जिलों में तबाही मचाने वाला ओखी राष्ट्रीय आपदा नहीं

नईदिल्ली। केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री केजे अल्फोंस ने रविवार को कहा कि केरल के तिरुवंनतपुरम और कोल्लम जिले में भारी तबाही मचाने वाले चक्रवाती तूफान ‘ओखीÓ को राष्ट्रीय आपदा घोषित नहीं किया जाएगा। केरल के सीएम पिन्यारी विजयन ने केंद्र से ओखी को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने के की मांग की थी। अल्फोंस ने कहा कि केंद्र राज्य को धन देगा और जरूरत पडऩे पर और ज्यादा पैसा दिया जाएगा। अल्फोंस ने कहा कि इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करने का कोई प्रावधान नहीं है। इससे पूर्व अल्फोंस ने बचाव और पुनर्वास कार्यों पर केरल के मुख्यमंत्री पी.विजयन और मंत्रिमंडल के अन्य सहयोगियों के साथ बैठक भी की। कई राज्यों के हजारों प्रभावित केरल, तमिलनाडु, लक्षद्वीप समूह में आए चक्रवात ओखी के कारण हजारों लोग प्रभावित हुए हैं। केरल में मृतक संख्या 19 हो गई है। मुख्यमंत्री विजयन के मुताबिक, 600 मछुआरे बचा लिए गए हैं। रविवार को ओखी पूर्व-मध्य व दक्षिण-पूर्व-मध्य अरब सागर में केंद्रित रहा। मौसम विभाग के अनुसार यह उत्तरी व उत्तर-पश्चिमी दिशा में बढ़ रहा है। रविवार शाम यह मुंबई से 870 किमी दूर और सूरत से 1070 किमी दूर दक्षिण-पश्चिम में था। गुजरात की ओर बढ़ा ओखी अगले 72 घंटे में दक्षिणी गुजरात के तट को छूएगा। इस कारण सौराष्ट्र, कच्छ, दमन-दीव में तेज हवाएं चलेंगी और व्यापक वर्षा होगी।