,कैंब्रिज एनालिटिका ने रशिया के साथ साझा किया था डाटा,

वाशिंगटन। अमेरिका के 2016 चुनाव में रूसी दखलंदाजी को उजागर करने वाले क्रिस्टोफर वायली ने कहा है कि कैंब्रिज एनालिटिका ने रूस के साथ डाटा साझा किया था। अमेरिकी कांग्रेस में सुनवाई के दौरान एक पैनल को उन्होंने बताया कि उन्हें विश्वास है कि रूसी खुफिया एजेंसी (एफएसबी) ने कंपनी से डाटा लिया था और इसका इस्तेमाल अमेरिकी चुनाव में हुआ। वायली ने बताया कि रूसी व अमेरिकी शोधकर्ता अलेक्जेंडर कॉगन ने एक एप बनाया था। इसके जरिये फेसबुक इस्तेमाल करने वाले लोगों का डाटा चुराया गया। कॉगन रूसी की सहायता से चलने वाले कई प्रोजेक्टों पर काम कर रहा था। लिखित बयान में उन्होंने कहा कि यह मानने के कई कारण हैं कि ब्रिटिश कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका ने रूसी खुफिया एजेंसी के हाथों में खेल रही थी। कंपनी ने रूसी शोधकर्ताओं को डाटा एकत्र करने में लगाया और खुलेआम इनका इस्तेमाल अफवाहों को फैलाने के लिए किया।