BREAKING NEWS
Search

कॉफी नहीं भारत में चाय ही सबकी पहली पसंद

नई दिल्ली। दुनिया में कॉफी का सातवां बड़ा निर्यातक देश होने के बाद भी भारत इंटरनेशनल कॉफी ऑर्गेनाइजेशन द्वारा जारी सर्वे में चोटी के बीस देशों में शामिल नहीं है। आईसीओ द्वारा जारी सर्वे में यूरोपीय देश फिनलैंड पहले नंबर पर है। यहां हर साल औसत 12 किलो कॉफी की खपत है। वहीं इस सूची में नॉर्वे, आइसलैंड और डेनमार्क दूसरे, तीसरे और चौथे पायदान पर हैं। भारत दुनिया में कॉफी का सातवां सबसे बड़ा निर्यातक देश है। दक्षिण भारतीय राज्यों में इसका सबसे ज्यादा उत्पादन होता है। भारत हर साल अलग-अगल देशों को 767 मिलियन पाउंड कॉफी का निर्यात करता है, जोकि दुनिया के कॉफी उत्पादन का चार फीसद है। मगर इतना उत्पादन होने के बाद भी देश कॉफी की खपत के मामले में काफी पीछे है। यहां लोगों की गर्म चाय की प्याली ही पसंद है। क्रोएशिया जैसा देश जो इस सूची में 19वें पायदान पर है, वहां प्रति व्यक्ति 4.9 किलो कॉफी की खपत है। ऐसे में इस देश में कैफिन के शौकीन काफी ज्यादा हैं और ब्रिटेन, अमेरिका भी इस देश से काफी पीछे हैं। इस सर्वे में अमेरिका कॉफी की खपत के पैमाने पर दुनिया में 26वें नंबर पर आता है, वहीं ब्रिटेन का नंबर 45वां है। वहीं ब्राजील जैसा देश जो दुनिया का सबसे बड़ा कॉफी निर्यातक देश है, वो इंटरनेशनल कॉफी ऑर्गेनाइजेशन द्वारा जारी सर्वे में 15वें स्थान पर है। यहां सालाना 5.5 किलो कॉफी की खपत होती है। ब्राजील से हर साल 5.7 बिलियन पाउंड कॉफी दूसरे मुल्कों को निर्यात होता है और पिछले 150 सालों से मुल्क कॉफी एक्सपोर्ट करने के मामले में दुनिया में सबसे आगे है।