BREAKING NEWS
Search

कोई जीते-कोई हारे, हमें क्या

– नगर परिषद के उप चुनावों में किसी की दिलचस्पी नहीं
श्रीगंगानगर। आमतौर पर उप चुनाव जन आकर्षण का केन्द्र बन जाते हैं। कौन जीतेगा, कौन हारेगा, इसकी अटकलें लगाई जाने लगती हैं लेकिन श्रीगंगानगर में वार्ड तीस में होने जा रहे उप चुनाव के प्रति कोई आकर्षण नजर नहीं आ रहा है। वार्ड उप चुनाव के प्रति किसी की दिलचस्पी नहीं है। और तो और, राजनीतिक दलों की सक्रियता वार्ड में नजर नहीं आ रही है। वार्ड का मसला वार्ड तक ही सीमित है।
वार्ड तीस मेंं चार साल पहले पूर्व पार्षद दयाराम कुलचानिया की मां तखिया देवी ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीता था। बाद में उनका निधन हो जाने से यह स्थान रिक्त हो गया। इसके लिए अब उप चुनाव कराने की प्रक्रिया चल रही है।
उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने सुमन घोड़ेला को अपना प्रत्याशी बनाया है। दयाराम कुलचानिया के छोटे भाई की पत्नी पुष्पा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में हैं। कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी घोषित न कर पुष्पा को समर्थन देने का फैसला किया है। नामांकन पत्र भरे जाने के बीच वार्ड मेंं सरगर्मियां तेज हो गई हैं। वार्डवासी जीत-हार के समीकरणों का अंदाजा लगा रहे हैं लेकिन वार्ड के बाहर किसी की दिलचस्पी इसमेें नहीं है।
सादुलशहर में भी यही हाल
सादुलशहर नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड 19 में भी उप चुनाव हो रहे हैं लेकिन वहां भी किसी की दिलचस्पी इसमें नजर नहीं आ रही है। वार्डवासी जरूर चुनावी चर्चा करते नजर आते हैं मगर शहर में इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा। नगर पालिका चुनाव में इस वार्ड से कांग्रेस की पूजा इंदौरा ने चुनाव जीता था। बाद में पूजा का चयन अध्यापिका के रूप में राजकीय सेवा में हो गया। इस पर उन्होंने पार्षद पद से इस्तीफा दे दिया। अब उप चुनाव में कांग्रेस ने सुनीता बागड़ी को टिकट दिया है जबकि भाजपा ने रेखा को प्रत्याशी बनाया है।