कोटा में कोचिंग लेने आने वाले छात्रों पर नहीं लगेगा टैक्स, वापस लिया निर्णय

कोटा। कोटा में मेडिकल और इंजीनियरिंग कोचिंग के लिए आने वाले विद्यार्थियों से नगर निगम द्वारा कोचिंग संस्थानों के जरिये एक हजार रुपये प्रति छात्र से वसूलने के निर्णय के बाद शुरू हुए विरोध-प्रदर्शन से नगर निगम बैकफुट पर आ गया है। इस मामले में बढ़ते विरोध को देखते हुए सरकार के निर्देश पर निगम ने कहा है कि वे कोटा मेें कोचिंग लेने के लिए आने वाले बाहरी छात्रों से किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लेगी। उल्लेखनीय है कि हाल ही में नगर निगम ने कोचिंग संस्थाओं के माध्यम से एंट्री टैक्स के रूप में एक हजार रुपये वसूलने का निर्णय लिया, जिसकी घोषणा के साथ ही विद्यार्थियों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। कोटा में हर साल लगभग सवा लाख बाहरी छात्र तैयारी करने आते हैं जिसमें से 80 हजार बिहार से आते हैं। बता दें, नगर निगम राज्य समिति की एक बैठक में ये निर्णय लिया गया। जहां नगर निगम शहर में सफाई के लिए पैसा जुटाने को कोचिंग संस्थानों, प्राइवेट कॉलेज और स्कूलों पर नया टैक्स थोपने का निर्णय लिया था।