कोर्ट से लौट रही थी विवाहिता, ससुराल वालों ने किया अपहरण

श्रीगंगानगर। ससुरालवालों से मनमुटाव होने पर विवाहिता ने अदालत का दरवाजा खटखटा दिया। ऐसे में ससुरालवालों ने रंजिश पाल ली और उसका अपहरण कर लिया। पुलिस ने पीडि़ता की बहन की ओर से मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। मामला राजियासर पुलिस थाना क्षेत्र का है।
पुलिस के अनुसार सुलोचना पुत्र भादरराम जाट निवासी 4 पीएचएम रोही पीपासर ने रिपोर्ट दी कि उसकी और उसकी छोटी बहन केसर देवी एक ही घर गांव 3 एसएसएलडी में बयाही हुई हैं। उसकी शादी लिछीराम के साथ, जबकि केसर देवी की शादी रामकुमार के साथ सात वर्ष पूर्व हुई थी। दोनों बहनों को एक-एक संतान पैदा हुई। इसके बाद ससुरालवालों ने दोनों बहनों को प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। दोनों बहनें अपने पीहर आकर रहने लगी।
दोनों बहनों ने अदालत में केस दायर कर रखा है। इसी मामले में 15 जुलाई को वह और केसर देवी तारीख पेशी भुगता कर अपने मामा रायसिंह के साथ बाइक पर सवार होकर गांव लौट रही थी। रास्ते में विजयनगर फांटा के निकट पीछे से आई सफेद रंग की बोलेरो ने उनका मोटरसाइकिल रूकवा लिया। जीप में सवार रामकुमार (पति), उसके मामा का बेटा राजू जाखड़ पुत्र नारायण, बनवारीलाल पूनियां निवासी गुडली व दो-तीन अन्य ने उसकी बहन केसर देवी का अपहरण कर लिया और फरार हो गये।
सुलोचना ने आरोप लगाया कि अपहरणकर्ताओं ने उसके मामा व उसके साथ भी मारपीट की। उन्हें मामूली चोटें आई। मामले की जांच एएसआई अशोक कुमार को सौंपी गई है।