खराब इनवर्टर की कीमत के साथ देना होगा हर्जाना

श्रीगंगानगर। गारंटी अवधि मेें इनवर्टर के खराब होने के मामले में उपभोक्ता मंच ने बाद सुनवाई आदेश दिया कि विक्रेता इनवर्टर को ठीक कर लौटाए। अगर ठीक न हो सके तो हर्जाने के साथ इनवर्टर की कीमत परिवादी को लौटाई जाए। जोड़किया निवासी गुलशन उर्फ जगदीश पुत्र हंसराज अरोड़ा ने उपभोक्ता मंच के समक्ष परिवाद पेश किया। परिवादी ने बताया कि उसने 22 जून 2015 को माइक्रोटेक इनवर्टर, प्रतापनगर जोधपुर निर्मित एक इनवर्टर और दो बैटरी 24500 रुपए में 2 वर्ष की गारंटी पर खरीदे। दो माह बाद इनवर्टर में निर्माण संबंधी दोष आने से उसका माऊस पैड जल गया। शिकायत करने पर मरम्मत कर इनवर्टर लौटाया, लेकिन फिर माउस पैड जल गया। मंच ने बाद सुनवाई आदेश दिया कि विक्रेता इनवर्टर को ठीक कर लौटाए। अगर ठीक न हो सके तो परिवाद पेश करने की तिथि से लेकर अदायगी तक हर्जाने के साथ इनवर्टर की कीमत परिवादी को लौटाई जाए। साथ ही परिवादी को प्रतिकर व वाद व्यय के 2500 रुपए दिए जाएं।