BREAKING NEWS
Search

खाना खाइए मगर खाताधारक का काम नहीं रुके

– लंच ब्रेक के दौरान काउंटर बंद नहीं कर सकते बैंक
श्रीगंगानगर। प्रत्येक बैंक में दोपहर में लंच का समय ढाई से तीन बजे निर्धारित है। इस दौरान बैंक कर्मी लंच करते हैं मगर बैंक का काउंटर इस दौरान बंद नहीं किया जा सकता। अगर किसी बैंक मेें लंच ब्रेक के दौरान काउंटर बंद मिलता है और आपका काम नहीं किया जाता है तो आप इस बारे मेंं बैंक अधिकारियों को शिकायत कर सकते हैं। ऐसी शिकायत की पुष्टि होने पर दोषी बैंक कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।
सभी बैंकों में लंच ब्रेक के दौरान काउंटर बंद नहीं करने का आदेश पुराना है। आरबीआई का आदेश है कि लंच ब्रेक के दौरान बैंक काउंटर पर कम से कम एक कैशियर और एक अधिकारी जरूर मौजूद रहेंगे। मगर यह बात अलग है कि ज्यादातर बैंकों में लंच ब्रेक के दौरान काउंटर सूने ही नजर आते हैं। लंच टाइम के दौरान कामकाज के सिलसिले में बैंक गए लोगों के पास वहां बैठकर ‘बाबूजीÓ के वापस आने का इंतजार करने के सिवाय कोई चारा नहीं रहता।
हाल में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने आरटीआई के जवाब में एक बार फिर इस बात को पुख्ता कर दिया है कि लंच ब्रेक के दौरान बैंक अपने काउंटर बंद नहीं कर सकते। आरटीआई आवेदन के जवाब में रिजर्व बैंक ने साफ-साफ कहा है कि कार्य अवधि में बैंक कभी भी अपने काउंटर या टेलर बंद नहीं कर सकते। कार्य अवधि में यदि कोई खाताधारक पहुंच गया तो उसके कार्यों का निष्पादन बैंक को करना ही होगा, चाहे उसे कैश को छोड़कर अन्य कार्यों के लिए कार्य अवधि क्यों न बढ़ानी पड़े।
इनका कहना है
लंच टाइम के दौरान प्रत्येक बैंक शाखा मेंं काउंटर खुला रखना जरूरी है। लंच के दौरान काउंटर पर एक कैशियर और एक अधिकारी ड्यूटी पर रहना ही चाहिए ताकि लंच अवधि में किसी खाताधारक का कोई काम बाधित न हो।
-एनएम महेश्वरी, सहायक महाप्रबंधक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, श्रीगंगानगर।