खिड़की से निकल कर परिवार ने बचाई जान

– घर में लगी आग, घरेलू सामान, जेवरात व नकदी जली
श्रीगंगानगर। वार्ड नम्बर 1, देवनगर में रहने वाले राकेश के लिए आज की सुबह कहर बन कर आई। अल सुबह करीब चार बजे राकेश के घर में आग लग गई। इस परिवार ने खिड़की से बाहर निकल कर जान बचाई। दमकल वहां आई, लेकिन आगे जाने का रास्ता नहीं था। ऐसे में सब कुछ जलने के बाद आग स्वत: ही बुझ गई।
जानकारी के अनुसार मजदूरी करने वाले राकेश के घर में शॉट सर्किट से आज सुबह आग लग गई। घर में धुंआ होने पर राकेश की नींद टूटी और पत्नी व तीन बच्चों को नींद से जगाया। आग से घिर जाने पर राकेश ने कूलर लगाने के लिए रखी खिड़की की ईंटों को तोड़ा और पत्नी व बच्चों को बाहर निकालने के बाद खुद बाहर निकला। सौभाग्य से पूरा परिवार जिन्दा बच गया। राकेश ने बताया कि घर में कपड़ों की पेटी रखी हुई थी। आग में कपड़े, आलमारी व घरेलू सामान जल गया। आलमारी रखे कुछ सोना-चांदी के गहने व 50 हजार रुपए की नगदी जल गई। हर महीने कुछ रकम बचा कर कमेटी की किश्तें चुकता कर रहा था। राकेश को कल मंगलवार को ही कमेटी की रकम मिली थी। राकेश का परिवार अभी प्लानिंग ही कर रहा था कि 50 हजार रुपए की रकम को कहां इस्तेमाल करना है। आज सुबह घर में लगी आग से उसके सपने भी नष्ट हो गये।
सूचना मिलने पर दमकल की गाड़ी नर्सरी के पास आई, लेकिन आगे रेलवे लाइन होने पर दमकल घर तक नहीं पहुंच सकी। इस इलाके के लोगों को रास्ता नहीं होने का खामियाजा अक्सर भुगतना पड़ता है।
परिवार को दी आर्थिक मदद
वार्ड नम्बर 1 में नर्सरी के निकट राकेश के घर में आज सुबह आग लगने की सूचना मिलने पर तपोवन प्रन्यास ट्रस्ट के अध्यक्ष महेश पेड़ीवाल व चाइल्ड लाइन के कर्मचारी मौके पर पहुंचे। यहां वार्ड पार्षद सतपाल राव ने महेश पेड़ीवाल को बताया कि राकेश मजदूरी करता है। आग लगने से कुछ जेवरात व 50 हजार की नगदी आग में जल चुकी है। सब कुछ जल गया। इस पर पेड़ीवाल ने मौके पर ही राकेश के परिवार की आर्थिक मदद की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि बच्चों के राशन की व्यवस्था भी ट्रस्ट की ओर से कर दी जायेगी। चाइल्ड लाइन की ओर से भी परिवार की आर्थिक मदद की जायेगी।