BREAKING NEWS
Search

खुशखबरी! लौटने वाले हैं सिनेमा के सुनहरे दिन

– श्रीगंगानगर में कई जगह मल्टी प्लेक्स निर्माण की प्लानिंग
श्रीगंगानगर। जब दर्शक दूर हुए तो लंबे समय तक मनोरंजन का पर्याय रहे शहर के सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों के बंद होने की नौबत आ गई। कुछ सिनेमा बंद हो गए तो कुछ जैसे-तैसे घिसट रहे हैं मगर अब लगता है शहर में सिनेमा के सुनहरे दिन लौटने वाले हंै। जिस तरह शहर के कई लोग प्लानिंग कर रहे हैं, उससे बड़े शहरों की तर्ज पर श्रीगंगानगर में भी मल्टी प्लेक्स सिनेमा की बहार आती दिख रही है।
अभी शहर में केवल एक मल्टी प्लेक्स सीजीआर ही है जिसमें एक साथ तीन फिल्में चलाई जाती हैं। सीजीआर को मिले शहरवासियों के रेस्पॉन्स को देखते हुए कई और लोग मल्टी प्लेक्स खड़ा करने का मानस बना रहे हैं। थोड़े समय में इन पर काम भी शुरू होने की उम्मीद है। मल्टी प्लेक्स निर्माण में रुचि ले रहे लोगों का मानना है कि मीडिया, मोबाइल फोन और टैब पर फिल्में देखने का प्रचलन बढऩे के बावजूद मल्टीप्लेक्स इंडस्ट्री पर दबाव की आशंका नहीं है। क्योंकि सिनेमा हॉल में फिल्में देखने वालों की संख्या काफी तेजी से बढ़ रही है और लोगों का मल्टीप्लेक्स में फिल्में देखने का शौक दिन-प्रतिदिन परवान चढ़ रहा है। खासकर, श्रीगंगानगर में लोगों की खर्च करने की क्षमता में वृद्धि को देखते हुए यहां मल्टी प्लेक्स पनपने के ज्यादा आसार हैं।
शहर के दुर्गेश सिनेमा के स्थान पर जल्द ही मल्टी प्लेक्स बनता हुआ नजर आएगा। दुर्गेश के मालिकों ने इस बारे मेंं निर्णय कर लिया है। उन्हें मल्टी प्लेक्स के धंधे में भारी संभावनाएं नजर आ रही हैं। इस संबंध में अनीस नागपाल का कहना है कि हम लोगों ने मल्टी प्लेक्स बनाना तय कर लिया है।
हम अब इस पर विचार कर रहे हैं कि इसके साथ होटल-रेस्टोरेंट कैसा बनाया जाए। खुद बनाकर खुद संचालित करें या किसी कंपनी से टाईअप करें, इस पर चर्चा कर रहे हैं।  रिद्धि-सिद्धि कॉलोनी स्थित मॉल में मल्टी प्लेक्स इस साल के अंत तक शुरू हो जाएगा। बॉलीवुड फिल्म अभिनेता और निर्माता सोहम शाह ने इसे डवलप किया है। सोहम शाह ने बताया कि हमारा मल्टी प्लेक्स इलाके में अपनी तरह का अनूठा होगा। इसमें फिल्म देखकर दर्शक रोमांचित हो उठेंगे।
इस थ्री स्क्रीन मल्टी प्लेक्स मेंं साढ़े सात-आठ सौ दर्शक फिल्म देख सकेंगे। गणेश सिनेमा के मालिक विजय गोयल को भी सिंगल स्क्रीन सिनेमा का कोई भविष्य नहीं दिखता है। गोयल कहते हैंं कि हम लोग लंबे समय से मल्टी प्लेक्स की संभावना पर विचार कर रहे हैं। अभी कुछ फाइनल नहीं किया है मगर यह तय है कि भविष्य मल्टी प्लेक्स का ही है।