गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 जायजा बाढ़ का, तैयारी चुनाव की

नई दिल्ली। 2 हफ्ते पहले गुजरात में भीषण बाढ़ आई। भारी तबाही मची। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते मंगलवार और उसके बाद कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में बाढ़ से प्रभावित हिस्सों का जायजा लिया। सियासी माहिरों के अनुसार यह दौरे लोगों का दुख-दर्द बांटने के साथ-साथ अगले पांच महीने में गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों का गणित समझने के लिए भी काफी अहम थे। सियासी माहिरों के अनुसार गुजरात के साथ-साथ राजस्थान में भी बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। गुजरात के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 500 करोड़ रुपए के विशेष पैकेज की घोषणा की है मगर दूसरी तरफ राजस्थान के लिए अभी किसी तरह के पैकेज की घोषणा नहीं हुई है। इस पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने भी आपत्ति जताई है। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के लिए 8 अगस्त का दिन काफी प्रतिष्ठापूर्ण रहा। इस दिन पश्चिम बंगाल की 6, मध्य प्रदेश की 1 और गुजरात की 3 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव हुआ। सियासी माहिर इन राज्यसभा के चुनाव परिणामों को अगले 5 महीनों में गुजरात विधानसभा के लिए होने वाले चुनाव के साथ जोड़कर देखकर रहे हैं। उनके अनुसार इन चुनावों से राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों की काफी हद तक रूप-रेखा तय हो जाएगी। मंगलवार को गुजरात के विधायकों ने राज्ससभा की 3 सीटों के लिए मतदान किया जिनमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल के भविष्य का फैसला होगा। शाह और स्मृति ईरानी की जीत लगभग तय मानी जा रही है, मगर पटेल को हाल ही में भाजपा में शामिल हुए बलवंत सिंह राजपूत से कड़ी चुनौती मिल सकती है।