गूगल ने डूडल बनाकर किया भारत की पहली महिला वकील कॉर्नेलिया को सलाम

नासिक। महाराष्ट्र के नासिक में जन्मी भारत की पहली महिला वकील, समाज सुधारक व लेखिका कार्नेलिया सोराबजी को आज गूगल ने डूडल के जरिये याद किया है। कार्नेलिया सोराबजी न सिर्फ भारत और लंदन में लॉ की प्रेक्टिस करने वाली पहली महिला थीं, बल्कि वे बॉम्बे यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट होने वाली पहली युवती, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने वाली पहली महिला और ब्रिटिश यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने वाली पहली भारतीय भी थीं। 15 नवंबर 1866 को जन्मीं कार्नेलिया 1892 में नागरिक कानून की पढ़ाई के लिए विदेश गईं और 1894 में भारत लौटीं। उस समय समाज में महिलाएं मुखर नहीं थीं और न ही महिलाओं को वकालत का अधिकार था। ऐसे वातावरण में भी कार्नेलिया ने वकालत करते हुए एडवोकेट बनने की ठानी। उन्होंने वकालत का काम शुरू करते हुए महिलाओं को कानूनी परामर्श देना आरंभ किया और महिलाओं के लिए वकील का पेशा खोलने की मांग उठाई। आखिरकार 1907 के बाद कार्नेलिया को अपनी इस लड़ाई में जीत हासिल हुई। उन्हें बंगाल, बिहार, उड़ीसा और असम की अदालतों में सहायक महिला वकील का पद दिया गया।