ग्रुप कंपनियों में आम एंप्लॉयी की तरह काम कर रहे हैं टाटा परिवार के बच्चे

मुंबई। रतन टाटा के सौतेले भाई नोएल नवल टाटा के बच्चे- लीया, माया और नेविल, टाटा ग्रुप की अलग-अलग कंपनियों में काम कर रहे हैं। वे सभी कंपनी में तरक्की पाने के लिए दूसरे प्रफेशनल्स की तरह ही मेहनत कर रहे हैं। नोएल की सबसे बड़ी बेटी लीया इंडियन होटल्स कंपनी में कार्यरत हैं जो ताज ग्रुप ऑफ होटल्स को ऑपरेट करती है। उनकी छोटी बेटी माया फ्लैगशिप फाइनैंशल सर्विसेज कंपनी टाटा कैपिटल में बतौर ऐनालिस्ट काम कर रही हैं। नेविल रिटेल चेन ट्रेंट में काम कर रहे हैं, जिसे खड़ा करने में उनके पिता का बड़ा हाथ रहा है। एक सीनियर एग्जिक्युटिव ने कहा कि ग्रुप में टाटा परिवार के इन बच्चों की मौजूदगी के बारे में अंदर-बाहर ज्यादा बातें नहीं होतीं। तीनों इंग्लैंड और स्पेन के इंस्टीट्यूट्स से पढ़े हैं। लीया की लिंक्डइन प्रोफाइल के मुताबिक उन्होंने ढ्ढश्व बिजनस स्कूल से मार्केटिंग में मास्टर डिग्री ली है। सीनियर एग्जिक्युटिव्स के मुताबिक, 20-22 से 30-32 साल की उम्र के ये बच्चे विनम्र हैं, किसी को इमोशनल प्रॉब्लम नहीं है और अपनी मेहनत से कंपनी में तरक्की की सीढिय़ां चढऩा चाहते हैं। मीडिया से दूर रहने वाले नोएल टाटा इस बात पर जोर देते हैं कि उनको दफ्तर में खास तवज्जो ना दी जाए। उनके बच्चे जिन कंपनियों में काम कर रहे हैं, उनको नोएल की तरफ से साफ निर्देश है कि उनके साथ आम एंप्लॉयी जैसा सलूक हो। वे अपना सरनेम नहीं लिखते और उनको सिस्टम का हिस्सा बना दिया गया है।,