चक्काजाम में फंसी रोडवेज

श्रीगंगानगर। किसानों के चक्काजाम में रोडवेज की सेवा भी फंसी रही। चक्काजाम के कारण बुधवार सुबह रोडवेज की अनेक गाडिय़ां बस अड्डे से रवाना नहीं हो पाई। शहर से बाहर जाने वाले चारों मुख्य मार्गों पर किसानों का चक्काजाम असरदार था।
इस कारण कुछ बसें सुबह रवाना तो हुई, लेकिन उन्हें वापिस लौटना पड़ा। चक्काजाम के चलते हनुमानगढ़, सूरतगढ़, पदमपुर व करणपुर रूट पर चलने वाली बसें बस अड्डों पर ही रहीं। केवल केसरीसिंहपुर मार्ग पर ही बसों की आवाजाही हो सकी। रोडवेज सूत्रों के अनुसार 80 प्रतिशत से अधिक बसें जाम के कारण नहीं चल पाई।
सूरतगढ़ बाइपास पूरी तरह जाम
गाँव 4 एमएल व सूरतगढ़ रोड़ बाईपास पर आज किसानो ने सुबह जल्दी ही लगभग 8 बजे चक्का जाम हड़ताल शुरू कर दी। यहां किसान सुभाष मोयल, किसान संघर्ष समिति के प्रवक्ता सुभाष सहगल, जयचंद लिम्बा, धनपत जाखड़, सुभाष सहगल, रामजीलाल लिम्बा रघुवीर ताखर,विनोद जाखड़,हेतराम बेनीवाल नेतराम लिम्बा,कालू लिम्बा, विक्रम सेवटा, अनिल लिम्बा आदि सैंकड़ो किसानो ने सूरतगढ़ रोड पर टेंट लगा धरना लगा दिया। किसानो ने बताया कि जब तक सरकार द्वारा हमारी मांगे नहीं मानी जाती तब तक किसानों द्वारा धरना जारी रहेगा। यहां काफी संख्या में किसानों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई और राज्य व केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।