चार घंटे के लिए ठहर गई जिंदगी

– करणपुर, सादुलशहर, रायसिंहनगर, पदमपुर, सूरतगढ़, गजसिंहपुर, केसरीसिंहपुर, घड़साना, अनूपगढ़, बींझबायला, श्रीबिजयनगर, जैतसर में चक्का जाम से जन-जीवन अस्त व्यस्त
सादुलशहर मेें बंद और चक्का जाम सफल
सादुलशहर। किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को सादुलशहर बंद व चक्काजाम पूर्ण रूप से सफल रहा। बंद को सादुलशहर व्यापार मण्डल सहित समस्त व्यापारिक संगठनों ने अपूर्ण समर्थन दिया। बंद के कारण सुबह से ही दुकानों के ताले नहीं खुले। शहर में दूध, सब्जी व कृषि जिन्सों की आपूर्ति चक्का जाम के कारण नहीं हो सकी तथा बसों के पहिये भी रूके रहे। बंद के दौरान पूरे बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। आंदोलनकारी किसानों की ओर से अबोहर-हनुमानगढ मार्ग पर पतली बैरियल, सादुलशहर-संगरिया व सादुलशहर-हनुमानगढ़ मार्ग पर कैंचिया, सादुलशहर-श्रीगंगानगर मार्ग पर बुधरवाली कैंटीन के पास, लालगढ़ जाटान मार्ग पर बनवाली तिराहे पर, सादुलशहर-मन्नीवाली मार्ग पर खाट सजवार तिराहे पर जाम लगाया गया। राजीव चौंक पर किसानों ने अद्र्धनग्न होकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। दोपहर बारह बजे बाद बसों के थमे हुए चक्के गंतव्य के लिए रवाना हो गये, तब जाकर यात्रियों को राहत मिलीं।
किसान आंदोलन से जन जीवन ठप: रायसिंहनगर। रायसिंहनगर तहसील क्षेत्र में सोमवार को किसान संगठनों के आह्वान पर चक्का जाम और बंद सफल रहा। किसान अलसुबह 4 बजे ही क्षेत्र में विभिन्न जगहों पर बनाए नाकों पर पहुंचना शुरू हो गए। सुबह-सवेरे ही नाकों पर पहुंचकर दूध-सब्जी लेकर जाने वाले वाहनों को रोका। 8 बजे किसानों ने वाहनों को रोकना शुरू कर दिया। रायसिंहनगर क्षेत्र के चारों तरफ ट्रक यूनियन पुलिया, हांडा चौक, 11 टीके फाटक, 24 पीएस पुलिया, 26 पीएस पुलिया, सांवतसर, समेजा कोठी, 32 एमएल, 20 पीएस सहित तमाम स्टेट हाइवे और ग्रामीण सड़कों पर चक्का जाम किया गया। चक्का जाम के दौरान पूर्व भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष राकेश ठोलिया किसान सभा के शपथ राम मेघवाल कालू थोरी, रायसिंहनगर संघर्ष समिति के अध्यक्ष राजेश सिकरवाल मौजूद रहे।
थाना प्रभारी अरविंद बिश्नोई के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस जाप्ता जगह जगह तैनात किया गया।
घड़सानों में लगी वाहनों की कतारें: घड़साना। घड़साना में किसानों ने चक्काजाम करते हुए किसान समस्याओं के समाधान की मांग की। माकपा के पूर्व विधायक पवन दुग्गल के नेतृत्व में किसानों ने 25 आरडी, एसटीआर माइनर और 313 वाली पुलिया पर वाहनों का चक्का जाम किया। इसके चलते वाहनोंं की लंबी कतारें लग गईं। कामरेड लक्ष्मण सिंह, पंचायत समिति प्रधान रानी बाला, शिमला नायक, कांग्रेसी कार्यकर्ता सहित अन्य मौजूद रहे। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन भी तैनात रहा।
बींझबायला में रहा चक्का जाम: बींझबायला। बीझबायला में पदमपुर-हनुमानगढ मार्ग पर किसानों ने चक्काजाम किया। किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। किसानों ने बाजार बंद करवाया। फल, सब्जी और दूध की सप्लाई नहीं हुई। किसानों ने नायब तहसीलदार को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। किसानों ने उप तहसील के सामने सरकार का पुतला फूंका। किसानों ने जोड़कियां-कैंचियां चौराहे पर नेशनल हाइवे 62 को भी जाम किया।
जैतसर पुलिया पर रोका रास्ता: पदमपुर। जैतसर पुलिया पर सैकड़ों किसानों ने जाम लगाकर यातायात ठप कर दिया। उन्होंने पुलिया की तीनों तरफ की सड़कों पर अवरोध खड़ेकर जाम कर दिया। वहां वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं।
करणपुर में आने-जाने के सभी रास्ते बंद: करणपुर। विभिन्न मांगों को लेकर किसानों ने चक्का जाम किया। किसानों ने शहर में सब्जी और दूध इत्यादि नहीं पहुंचने दिया। आंदोलनकारियों ने श्रीकरणपुर आने-जाने के सभी रास्ते बंद कर दिए। यहां वाटर वक्र्स रोड, गुरुसर रोड, अंडे वाला रोड, पदमपुर रोड, गंगानगर रोड और वर्षा नगर रोड पर किसानों ने अलग-अलग टोलियां बनाकर जाज लगाया। जिससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।आज दूध और सब्जी न आने से होटल-ढाबे सूने दिखाई दिए। किसान नेता हरदीप सिंह बम, केवल सिंह, कामरेड दर्शन सिंह, जसपाल सिंह, शमशेर सिंह, मंगल सिंह, बलवीर सिंह, मनमोहन सिंह, जसवंत सिंह, कुलवंत सिंह, गुरप्रीत सिंह, सोनू, मोहन सिंह, गुरुदयाल सिंह, बलजिंदर सिंह तथा अन्य किसानों ने चक्का जाम किया। डीवाईएसपी सुनील के. पंवार तथा सीआई अनिल मून ने क्षेत्र में निगरानी रखी।
अनूपगढ़ में रहा व्यापक असर: अनूपगढ़। राज्यव्यापी आह्वान के तहत आज सुबह किसानों ने उधम सिंह चौक पर चक्का जाम किया। किसान संघर्ष समिति व अखिल भारतीय किसान सभा के आह्वान पर किसानों ने दूध व सब्जी की सप्लाई रोकी। अखिल भारतीय किसान सभा के जिला उपाध्यक्ष सुनील गोदारा ने बताया कि आज पूरे क्षेत्र में चक्का जाम सफल रहा।
चूनावढ़ में किसान सड़कों पर: चूनावढ़। चूनावढ़ में आज चक्का जाम के तहत किसान सड़कों पर उतर आए। सुबह आठ किसानों ने चूनावढ़-कोठी मार्ग पर रास्ता रोक दिया। दूध, फल और सब्जियों की आपूर्ति नहीं होने दी गई। यहां चक्का जाम के दौरान जसवंत सिंह, जगरूप सिंह, मनजीत सिंह, गुरतेज सिंह, जगदीश घनघस, गुरप्रीत सिंह, कुलजीत सिंह, जश्नदीप सिंह, सतनाम सिंह, कर्मजीत सिंह, गुरप्रीत सिंह समेत विभिन्न किसानों ने वाहनों को रोका। क्षेत्र में भारी तादाद में पुलिस जाब्ता तैनात रहा।
32 एमएल। यहां किसानों ने 32 एमएल चौराहे पर आज रास्ता जाम किया। किसानों ने नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। किसानों का नेतृत्व सरपंच लखविन्द्र सिंह, हेमराज पुरी, जसकरण सिंह, बलविन्द्र सिंह भुल्लर कर रहे थे।
चक्का जाम कर प्रदर्शन: लालगढ़ जाटान (एसबीटी)। कर्जा माफी की मांग को लेकर व एमएस स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू करने की मांग को लेकर जिलेभर में समस्त किसानों ने सोमवार को चक्काजाम कर प्रदर्शन किया। दूध-सब्जी की सप्लाई भी बन्द रखी गई। किसानों ने यहां गंगानगर-हनुमानगढ़ स्टेट हाईवे पर जाम लगाकर धरना प्रदर्शन किया। दिनभर दुकानें भी बंद रखी गई। भारी मात्रा में पुलिस जाब्ता भी तैनात किया गया। पूर्व विधायक कामरेड हेतराम बेनीवाल ने सभा को सम्बोधित किया। व्यापार मंडल के पूर्व अध्यक्ष रामनिवास डूडी, किशनलाल सहारण, बंसीलाल गोदारा, पंच भादरराम पूनिया, करणीसिंह शेखावत आदि उपस्थित थे।
गजसिंहपुर (एसबीटी)। प्रदेश व्यापी बंद के आह्वान पर किसानों ने यहां भी सब्जी, दूध और अन्य कोई भी सामान मण्डियों में न लाकर मण्डी व शहरों का बहिष्कार किया। फाटक पर पार्षद हैप्पी हुंदल, श्रीकरणपुर रोड पर जीता हुंदल, रायसिंहनगर रोड पर पूर्व सरपंच अमरजीत सिंह, धन्ना राम,चरणजीत सिंह, राजाराम लेघा मौजूद रहे।
पांच की पुली पर रोक वाहन: जैतसर। किसानों ने आज सुबह पांच की पुली सहित मुख्य मार्गों पर चक्का जाम किया। चक्काजाम को माकपा, कांग्रेस, व्यापार मण्डल सहित कई संगठनों ने समर्थन दिया। दोपहर तक वाहनों की आवाजाही बंद रही। पांच की पुली पर वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं। चक्का जाम स्थल पर वक्ताओं ने केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार को किसान, मजदूर व आम जन विरोधी बताते हुये कहा कि देश में तानाशाह राज कायम है।
भाजपा के 3 साल के शासन मे देश भर में 36 हजार से ज्यादा किसानों ने कर्ज से तंग आकर आत्म हत्या की है। चक्का जाम के दौरान पूर्व प्रधान परमजीत सिंह रंधावा, कांग्रेस नगर उपाध्यक्ष सुभाष हर्ष, किसान संगठन के अमरजीत सिंह, कुलदीप सिंह राजा, धर्मसिंह, नत्थासिंह, गोविन्द राम, महेन्द्र सिंह, माकपा के का. हरिकिशन, नगर सचिव तुलसी शाक्य, मदन गिरी, हाकमसिंह, अजय सहारण, हैप्पी बराड़, यूथ कांग्रेस नगर अध्यक्ष सोनू सिडाना, सतपाल, बलविन्द्र दत्त, जगदीश गोदारा, राजेन्द्र कुमार, नन्दराम, जगदीश नायक, हैप्पी शर्मा तथा किसान संगठनों के कार्यकर्ता मौजूद थे।
मम्मड़ क्षेत्र में व्यापक असर: मम्मड़। सरकार की किसान विरोधी नीतियों के विरोध मेंं आज किसानों ने क्षेत्र में चक्का जाम किया। आज सुंदरपुरा, सरदारपुरा, मम्मड़, खेड़ा और आसपास के गांवों मेंं चक्का जाम सफल रहा।