चालू खाते का घाटा बढ़ा, सेवा निर्यात 12.9 अरब डॉलर

नई दिल्ली। भारत से सेवाओं का निर्यात अप्रैल में 12.90 अरब डॉलर रहा है जो अप्रैल 2016 के 12.91 अरब डॉलर के लगभग बराबर ही है. भारतीय रिजर्व बैंक के जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार इस अवधि में सेवाओं का आयात हल्का सा बढ़कर 7.22 अरब डॉलर रहा है जो अप्रैल 2016 में 7.18 अरब डॉलर था. वित्त वर्ष 2016-17 के लिए देश से सेवाओं का कुल निर्यात 3.4 प्रतिशत बढ़कर 160.68 अरब डॉलर रहा है. जबकि सेवाओं का आयात 11.4 प्रतिशत बढ़कर95.47 अरब डॉलर रहा है. चालू खाते का घाटा वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही में बढ़कर 3.4 अरब डॉलर रहा है जो देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 0.6 प्रतिशत के बराबर है. इससे पिछले वित्त वर्ष 2015-16 की इसी अवधि में यह 0.3 अरब डॉलर था. इस संबंध में भारतीय रिजर्व बैंक ने आंकड़े जारी किए हैं.