चूल्हे के सामने दर्पण तो हो सकता है एक्सीडेंट

mirror– पति-पत्नी को भी दर्पण के सामने नहीं सोना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में कटुता एवं तनाव बढ़ता जाता है। लंबे समय तक ऐसा होने से पति-पत्नी में अलगाव तक हो जाता है।
– दर्पण घर में हमेशा पूर्वी, दक्षिण-पूर्वी, उत्तरी तथा पश्चिमी दीवार पर लगाना श्रेष्ठ है।
– मुख्य द्वार से घर में प्रवेश करते हुए एकदम सामने दर्पण नहीं लगा होना चाहिए अन्यथा घर में प्रवेश करने वाली लाभदायक ऊर्जा परावर्तित होकर घर से बाहर निकल जाती है।
– चूल्हे, बर्नर आदि के पास दर्पण नहीं होना चाहिए अन्यथा दुर्घटना की आशंका रहती है।
– छत में लगे हुए दर्पणों में नीचे बैठे व्यक्ति का प्रतिबिंब दिखाई देना उस व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।