चेतावनी के बाद जयपुर पहुंचे अभियंता

– मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना की बैठक मेंं शामिल
श्रीगंगानगर। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना की एक महत्वपूर्ण बैठक में शामिल होने के लिए नगरपरिषद के अभियंता जयपुर पहुंचे हुए हैं। योजना के तहत डीपीआर के विषय पर इस बैठक में चर्चा की जानी है। प्रदेशभर की नगरपालिकाओं से योजना के प्रभारी अधिकारियों को 13 से 16 जनवरी तक जयपुर डीएलबी में उपस्थित होने के निर्देश दिये गये थे।
गंगानगर के अभियंताओं को 13 जनवरी को जयपुर उपस्थित होना था, लेकिन सूचना नहीं मिलने और अवकाश के कारण वे जयपुर नहीं जा पाये। गत दिवस जयपुर से योजना के प्रभारी अधिकारी व कार्मिक को बैठक में अनुपस्थित रहने पर 17 सीसी की चार्जशीट की चेतावनी की सूचना मिलते ही आयुक्त सुनीता चौधरी के निर्देश पर कनिष्ठ अभियंता वेदप्रकाश सहारण को जयपुर के लिए रवाना कर दिया गया।
नगरपरिषद सूत्रों के अनुसार योजना के तहत तैयार हुई डीपीआर जिला कलक्टर की आईडी से ऑनलाइन की गई थी। यह डीपीआर जयपुर में नहीं खुल पाई।
ऐसी समस्या कईं अन्य नगरपालिकाओं से सम्बन्धित डीपीआर के मामले में भी पेश आईं। इस पर योजना के प्रदेश प्रभारी अधिकारी ने सभी जिलों से नगरपालिकाओं के प्रभारी अभियंताओं को प्रशिक्षण के लिए जयपुर आने का कार्यक्रम जारी किया था। दूरभाष के जरिये इस कार्यक्रम की सूचना नगरपरिषद में भी दी गई, लेकिन यह सूचना आयुक्त तक नहीं पहुंची थी। ऐसे में अब आनन-फानन कनिष्ठ अभियंता को जयपुर के लिए भेजना पड़ा।