छह रुपए में ‘सेना जलÓ बुझाएगा आपकी प्यास

– आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन (एडब्ल्यूडब्ल्यूए) की नई पहल
– सोशल मीडिया पर श्रीगंगानगर के लोगों ने किया इसका स्वागत
नई दिल्ली/श्रीगंगानगर। अब आपको महंगा बोतलबंद पानी खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आप मात्र छह रुपए में पानी की बोतल खरीद कर गला तर कर सकेंगे। आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन (एडब्ल्यूडब्ल्यूए) ने ‘सेना जलÓ नाम से बोतलबंद पानी बाजार में उतारा है।
पानी की बोतलों की बिक्री से होने वाली कमाई जवानों और युद्ध में शहीद हुए सैनिकों की विधवाओं के लिए खर्च की जाएगी। बेहद कम दाम में पानी की बोतल मुहैया कराने के लिए भारत-पाक बॉर्डर पर बसे श्रीगंगानगर जिले के लोग सोशल मीडिया पर इस पहल का जमकर स्वागत कर रहे हंै। लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि इस पानी को हमारे इलाके में भी भेजा जाए।
थल सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत की पहल पर ‘सेना जलÓ लांच किया गया है। मधुलिका रावत आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष हैं।
नई दिल्ली स्थित नॉर्थ ब्लॉक स्थित आर्मी हेडक्वार्टर के पते पर कॉन्टैक्ट कर इसकी डीलरशिप और ड्रिस्ट्रीब्यूटरशिप ली जा सकती है।
सेना जल की शुरुआत का लोग स्वागत कर रहे हैं। श्रीगंगानगर में फेसबुक पर लोगों ने इसे अच्छी शुरुआत बताया है। लोगों का कहना है कि देश में लाखों लोग रोजाना बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर ब्रांडेड कंपनियों का बोतल बंद पानी खरीदकर पीते हैं। इनके एक लीटर पानी की कीमत 20 से 30 रुपए के बीच होती है। श्रीगंगानगर में लोगों ने फेसबुक पर लिखा है कि सेना जल को श्रीगंगानगर में भेजा जाए।
जानिए एडब्ल्यूडब्ल्यूए के बारे में: आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन (एडब्ल्यूडब्ल्यूए) सेना के एक अदृश्य हाथ की तरह है, जो शहीद जवानों के परिवारों की मदद के लिए काम करता है। एसोसिएशन में जवानों और अफसरों की पत्नियां शामिल हैं। इसकी शुरुआत ब्रेव हाट्र्स इम्पॉवरमेंट प्रोजेक्ट के तहत की गई। इसका प्रमुख काम देशभर में शहीद सैनिकों की पत्नियों और बच्चों की मदद करना है। यह एसोसिएशन शहीदों की पत्नियों की भावात्मक और आर्थिक मदद करता है, ताकि वे अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों को पूरा कर सकें। इसके जरिए कई तरह के छोटे प्रोजेक्ट आह्वान, परिश्रम सेल, लंच प्रोजेक्ट, पेपर रीसाइकिलिंग प्लांट चलाए जाते हैं।