जल्दी-जल्दी पे्रमी बदलती रही है प्रिया सेठ

– फिरौती के लिए युवक की हत्या करने वाले तीनों आरोपी सात दिन के रिमांड पर
जयपुर/श्रीगंगानगर। झोटवाड़ा जयपुर इलाके में फिरौती के लिए एक युवक की हत्या करने वाले एक युवती व दो युवकों को आज दोपहर अदालत में पेश करके सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। पूछताछ के दौरान वारदात में प्रयुक्त कार व अन्य सबूत जुटाने का प्रयास किया जा रहा है।
थाना प्रभारी सीआई गुरभूपेन्द्र सिंह ने बताया कि शिवपुरी विस्तार निवासी दुष्यंत शर्मा की हत्या करने के आरोप में प्रिया सेठ पुत्री अशोक सेठ निवासी नेहरू कॉलोनी फालना पुलिस थाना पाली, प्रिया सेठ के पे्रमी दीक्षांत कामरा पुत्र राजीव कामरा निवासी मकान नम्बर 266, वार्ड नम्बर 3 इंदिरा कॉलोनी पदमपुर व लक्ष्य वालिया पुत्र सुनील वालिया निवासी मकान नम्बर 1034 चावला चौक पुरानी आबादी श्रीगंगानगर को गिरफ्तार करके आज अदालत में पेश करके सात दिन के रिमांड पर लिया गया है। तीनों से पूछताछ करके मृतक दुष्यंत शर्मा की कार बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।
जांच अधिकारी सीआई गुरभूपेन्द्र ङ्क्षसह ने बताया कि प्रिया सेठ के पे्रमी का पे्रमी दीक्षांत कामरा मुम्बई में मॉडलिंग में भाग्य आजमा रहा था, लेकिन तीन-चार वर्ष से उसे वहां कोई मुकाम नहीं मिला। ऐसे में वह कर्ज में आ गया। दीक्षांत कामरा व प्रिया सेठ में करीब चार माह पूर्व ही दोस्ती हुई थी। ऐसे में दीक्षांत ने अपनी अपनी माली हालत के बारे में प्रिया सेठ को बताया। प्रिया सेठ ने दुष्यंत शर्मा से दोस्ती करके उसे अपने जाल में फंसाया और फिर अपने पे्रमी दीक्षांत कामरा को दुष्यंत का अपहरण करके फिरौती लेने की योजना बताई। दीक्षांत कामरा ने इस वारदात को अंजाम देने के लिए अपने क्लासमेट लक्ष्या वालिया निवासी श्रीगंगानगर को भी अपने साथ मिला लिया। दीक्षांत कामरा व प्रिया सेठ ने झोटवाड़ा इलाके में एक अपार्टमेंट में किराये पर फ्लैट ले रखा था। प्रिया सेठ ने फोन करके दुष्यंत शर्मा को अपने अपार्टमेंट के फ्लैट में बुलाया और फिर यहां दुष्यंत से उसके पिता को फोन करवाया। उसके पिता ने तीन लाख रुपए उसके खाते में जमा भी करवा दिए थे, लेकिन पकड़े जाने के डर से प्रिया सेठ, दीक्षांत कामरा व लक्ष्य वालिया ने गला घोंट कर दुष्यंत शर्मा की हत्या कर दी और लाश को एक सूटकेस में ठूंस कर दिल्ली बाईपास पर फैंक दिया। आईओ ने बताया कि कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस को हत्यारों के बारे में जानकारी मिली और उन्हें दबोच लिया गया। प्रिया सेठ महंगी शराब पीने और जल्दी-जल्दी पे्रमी बदलने की आदी है। प्रिया सेठ करीब चार माह पूर्व ही दीक्षांत कामरा के सम्पर्क में आई थी। वह एक महीने पहले ही मुम्बई से जयपुर आया था। प्रिया सेठ पर जयपुर में ब्लैकमेलिंग व धोखाधड़ी के तीन मुकदमे दर्ज होने की जानकारी मिली है। मोटी रकम ऐंठने की चाहत रखते हुए प्रिया सेठ ने दुष्यंत शर्मा को अपना पे्रमी बनाया था। वह दुष्यंत शर्मा को करोड़पति समझती थी। दीक्षांत कामरा व लक्ष्य वालिया का अपराधिक रिकॉर्ड जुटाया जा रहा है। दोनों युवक श्रीगंगानगर में दसवीं तक साथ पढ़े हुए हैं। ऐसे में उनकी गहरी दोस्ती थी। दोस्ती के चक्कर में लक्ष्य वालिया भी मर्डर की वारदात में शामिल हो गया।
टीवी सीरियल में अभिनय कर चुका है दीक्षांत
श्रीगंगानगर। जयपुर में फिरौती के लिए दुष्यंत की हत्या करने का आरोपी दीक्षांत कामरा स्टार प्लस के नाटक ‘ये रिश्ता क्या कहलाता हैÓ में अभिनय कर चुका है। मुम्बई में मॉडलिंग में भाग्य आजमाने के दौरान दीक्षांत कामरा को टीवी सीरियल में काम करने का मौका मिला था।
पदमपुर से मिली जानकारी के अनुसार दीक्षांत कामरा के परिवार की जमीन श्रीकरणपुर मार्ग पर गांव 50 जीजी के पास है। दीक्षांत कामरा शुरू से ही पर्दे की दुनिया में अपना नाम चमकाने का सपना देखता था। वह 15 वर्ष की उम्र में ही पदमपुर छोड़ कर मुम्बई चला गया था। वहां एक उद्योगपति परिवार से नजदीकि रिश्ते बनने पर उसे टीवी सीरियल में अभिनय करने का मौका मिला। वह पर्दे पर ज्यादा दिन नहीं टिक पाया और जयपुर में आ गया। यहां प्रिया सेठ से उसकी गहरी दोस्ती हो गई और उन्होंने अपहरण करके फिरौती मांगी और फिर हत्या जैसी संगीन वारदात को अंजाम दिया।
आज मीडिया में समाचार आने के बाद पदमपुर क्षेत्र में इस प्रकरण की चर्चाएं रहीं। आसपास के कस्बों से पदमपुर में फोन करके लोगों ने दीक्षांत कामरा के परिवार की जानकारी ली। जानना चाह रहे थे। कुछ लोगों ने दबी जुबान में जानकारी दी। इसी तरह पुरानी आबादी निवासी लक्ष्य वालिया के बारे में लोगों में उत्सुकता थी।