जल्द ट्रेन में कर पाएंगे हाई-स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल

भारतीय रेलवे यात्रियों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है। अब जल्द ही यात्री ट्रेन यात्रा के दौरान इंटरनेट ब्राउजिंग, ई-मेल, फेसबुक और व्हाट्सएप का इस्तेमाल कर पाएंगे। रेलवे देशभर के १२८ से ज्यादा स्टेशन्स पर वाई-फाई सिस्टम इंस्टॉल करने के बाद, अब उन तकनीकों की खोज कर रहा है जो यात्रियों को यात्रा के दौरान वाई-फाई के जरिये इंटरनेट इस्तेमाल करने की आजादी दें।
औसत तौर पर देखा जाए तो प्रतिदिन करीब २३ मिलियन यात्री रेल से यात्रा करते हैं। आपको बता दें कि अभी रेलवे तेजस, गतिमान, दिल्ली-हावड़ा राजधानी एक्सप्रेस समेत लग्जरी ट्रेनों में इंटरनेट एक्सेस की सुविधा दे रही है। हालांकि, यह इंटरनेट सर्विस उपलब्ध कराने का किफायती तरीका नहीं है।
ट्रेन में मिलेगी हाई-स्पीड इंटरनेट सुविधा –
रेलवे मिनिस्ट्री के एक अधिकारी ने कहा, ‘हम ट्रेन में हाई-स्पीड वाई-फाई सुविधा देने का प्लान कर रहे हैं। फिलहाल ट्रेन में सैटेलाइट के जरिए इंटरनेट मुहैया कराया जा रहा है। लेकिन यह यात्रियों को काफी महंगा पड़ता है।’
नए सिस्टम के अंतर्गत, वाई-फाई डिवाइसेस को ट्रैक-साइड इक्यूपमेंट में इंस्टॉल किया जाएगा, जिससे यात्री बिना किसी रुकावट के इंटरनेट एक्सेस का लाभ उठा पाएंगे। ट्रेन में हाई-स्पीड इंटरनेट का निर्णय उस समय लिया गया है जब सरकार फ्लाइट में इंटरनेट एक्सेस देने पर काम कर रही है। एविएशन मिनिस्ट्री इस सर्विस को लेकर टेलिकॉम डिपार्टमेंट और सरकारी कंपनी बीएसएनएल से बात कर रही है।
ष्ट-ष्ठह्रञ्ज नए उपकरण पर कर रहा काम –
रेलवे, आईआईटी चेन्नई और सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ टेलिमैटिक्स (ष्ट-ष्ठह्रञ्ज) के साथ काम रही है। आपको बता दें कि आईआईटी चेन्नई ने एक कॉन्सेप्ट डेवलप किया है। साथ ही ष्ट-ष्ठह्रञ्ज एक उपकरण पर काम कर रहा है जो रेलवे की जरुरत को तुरंत पूरा करने में सक्षम है।
अधिकारी ने बताया कि वो बेंग्लुरु-चेन्नई में इसका पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च करने के बारे में सोच रहे हैं।
वित्त वर्ष २०१६-१७ में रेलवे में ८२२१ मिलियन यात्रियों ने यात्रा की है। साथ ही भारत में इंटरनेट यूजर्स करीब ४३० मिलियन हैं। हालांकि, प्रति यूजर डाटा यूसेज करीब १.२५ जीबी है जिसमें से ज्यादातर डाटा मोबाइल के जरिये इस्तेमाल किया जाता है।