जापान विवादित द्वीपों पर संयुक्त प्रशासन का पक्षधर

टोक्यो (एसबीटी न्यूज)। जापान रूस के साथ अपने विवाद को समाप्त करने के लिये विवादित द्वीपों के संयुक्त प्रशासन के प्रस्ताव पर विचार कर रहा है। यह खबर जापान के निक्केई समाचार पत्र ने आज प्रकाशित की है। इन द्वीपों पर रूस के साथ जापान का विवाद लगभग 70 वर्ष पुराना है। रूस ने इन द्वीपों पर द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान कब्जा किया था। जापान इन पर अपना स्वामित्व बताता रहा है लेकिन अब वह इन्हें लेकर रूस के साथ अपने विवाद को खत्म करने के लिये इनके संयुक्त प्रशासन का प्रस्ताव रखने पर विचार कर रहा है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे इन द्वीपों के संयुक्त प्रशासन के लिए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को राजी कर लेने की आशा कर रहे हैं। रूस के राष्ट्रपति 15 दिसंबर को टोक्यो आ रहे हैं। उनकी इस यात्रा के समय विवादित द्वीपों पर बातचीत किये जाने की संभावना है। समाचार पत्र ने संयुक्त प्रशासन की खबर जापान तथा रूस की सरकार के सूत्रों के हवाले से प्रकाशित की है। दोनों देशों के बीच होकैदो के तट पर स्थित चार द्वीपों को लेकर विवाद है। रूस इन्हें अपने दक्षिणी कुरिले द्वीप समूह का हिस्सा मानता है। इन द्वीपों के विवाद के कारण रूस तथा जापान के बीच द्वितीय विश्वयुद्ध की औपचारिक समाप्ति का समझौता नहीं हो सका। जापान लम्बे समय से इन द्वीपों पर अपनी सम्प्रभुत्ता का दावा करता रहा है।