दुष्कर्मी को न्यायालय से नहीं मिली राहत

श्रीगंगानगर। युवती से दुष्कर्म करने के आरोपी को न्यायालय से राहत नहीं मिली है। विशिष्ट लोक अभियोजक बनवारीलाल कड़ेला ने बताया कि पीडि़ता ने 3 अप्रेल 2015 को पुलिस थाना अनूपगढ़ में जरिए परिवाद आरोपी राधेश्याम पुत्र मंशाराम कुम्हार निवासी 1 एनएसएम अनूपगढ़, शंकरलाल, सीतादेवी के खिलाफ 363,366,376 में मुकदमा दर्ज कराया। पीडि़ता ने आरोप लगाया कि 27 मार्च 2015 को शादी मेें गई थी। आरोपी सीतादेवी से मिलकर शंकरलाल और राधेश्याम उसे मोटरसाइकिल पर बैठाकर ले गए। नशीला पेय पिलाकर शंकरलाल और राधेश्याम ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी राधेश्याम को गिरफ्तार कर जांच शुरू की। न्यायालय में पेश करने पर उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया। पुलिस जांच के दौरान दूसरे आरोपी शंकरलाल की मौत हो गई। राधेश्याम के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया। आरोपी की ओर से लगाई जमानत याचिका विशिष्ट न्यायालय ने गत दिवस खारिज कर दी।