देश में पैन कार्ड बनवाने वालों की संख्या में तेजी : सीबीडीटी

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद देश में पैन कार्ड बनवाने वालों की संख्या में तेजी से इजाफा देखने को मिला है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (ष्टक्चष्ठञ्ज) ने मगंलवार को बताया कि नोटबंदी के बाद स्थायी खाता संख्या (पैनकार्ड) के आवेदनों में 3 गुना तक का इजाफा आया है। ष्टक्चष्ठञ्ज के चेयरमैन सुशील चंद्र ने कहा कि नोटबंदी से पहले हर महीने करीब 2.5 लाख पैनकार्ड आवेदन आते थे। लेकिन सरकार के नोटबंदी के आदेश के बाद यह संख्या बढ़कर 7.5 लाख हो गई। उल्लेखनीय है कि सरकार ने पिछले साल आठ नवंबर को 500 और 1,000 रुपये पुराने नोटों को बंद कर दिया था। चंद्र ने कहा कि कालेधन के खिलाफ विभाग कई कदम उठा रहा है। इनमें दो लाख रुपये से अधिक के नकद लेनदेन पर रोक लगाना भी शामिल है।