नहीं तो करना पड़ेगा परेशानियों का सामना

– 31 दिसम्बर है आखिरी तारीख, करवा लें जीएसटी रजिस्टे्रशन
श्रीगंगानगर। एक अप्रैल 2017 से जीएसटी लागू करने की योजना के तहत जीएसटी काउंसिल की ओर से उद्यमियों, व्यापारियों और सर्विस प्रदाताओं का रजिस्टे्रशन ऑनलाइन किया जा रहा है। ऑनलाइन रजिस्टे्रशन की अंतिम तारीख 31 दिसम्बर में मात्र दो दिन शेष हंै। रजिस्टे्रशन नहीं करवाने वाले लोगों को बाद में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जिन लोगों का वैट के तहत पंजीकरण है, उन्हें जीएसटी के तहत पंजीकरण करवाना जरूरी है।
जीएसटी काउंसिल एक अप्रैल 2017 से जीएसटी लागू करने से पहले सभी काम पूरे कर लेना चाहता है। हालांकि एक अप्रेल से जीएसटी लागू हो पाएगा, इसमें अभी संदेह है मगर 16 दिसंबर से जीएसटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों का पंजीकरण हो सके। व्यापारी, उद्यमी और सर्विस प्रदाता जीएसटी पोर्टल 222.द्दह्यह्ल.द्दश1.द्बठ्ठ पर रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर रहे हैं। इसके लिए लोग चार्टेड एकाउंटेंट और टैक्स सलाहकारों के पास पहुंच रहे हैं।
जीएसटी में हर प्रक्रिया ऑनलाइन हो रही है। इसलिए बिना ई-मेल एड्रेस व मोबाइल नंबर के रजिस्ट्रेशन संभव नहीं है। रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करने के बाद हर तरह की सूचना ऑनलाइन ही भेजी जाएगी। मसलन, मोबाइल नंबर पर आवेदक को मैसेज भेजा जाएगा या फिर ई-मेल के जरिये सूचना भेजी जाएगी। जीएसटी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करने के बाद यह संबंधित अधिकारी के पास पहुंच जाएगा।
संबंधित अधिकारी को तीन दिन के अंदर ही दस्तावेजों में पाई गई त्रुटियों और कमियां बतानी होंगी। यदि किसी कारणवश अधिकारी इससे चूक जाता है या कारोबारी को आवेदन में पाई गई कमियों की जानकारी नहीं दे पाता तो चौथे दिन ऑटोमैटिक रजिस्ट्रेशन नंबर जनरेट हो जाएगा। नई व्यवस्था में कारोबारियों के लिए यह फायदा है कि अधिकारी बिना वजह किसी को काम लटका नहीं पाएंगे।
जरूरत है इन दस्तावेजों की
जीएसटी पंजीकरण कराने के लिए राज्य या केंद्र सरकार का पहचान पत्र, ई-मेल एड्रेस, मोबाइल नंबर, बैंक एकाउंट नंबर, बैंक आईएफएससी नंबर, पासबुक की कॉपी, एकाउंट होल्डर का नाम, बैंक का स्टेटमेंट,मालिक, प्रमोटर या पार्टनर का फोटोग्राफ, फर्म की ओर से ऑथोराइज्ड सिग्नेचर की कॉपी, व्यवसाय होने का प्रमाण, पार्टनरशिप फर्म की स्थिति में पार्टनरशिप डीड की कॉपी, अन्य मामलों में व्यापार पंजीकरण प्रमाण पत्र की प्रति की आवश्यकता है।
इनका कह