नेपाल में दिखी राम रहीम की ‘हनीप्रीत’, बिहार के 7 जिलों में ढूंढ़ रही थी पुलिस

चंडीगढ़। रेप केस में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत नेपाल में इटहरी के पास स्थित धरान इलाके में देखी गई है. सूत्रों से मिली इस जानकारी में साथ ही बताया गया है कि वह तराई में मोरांग जिले से सटे सुनसरी जिले में छुपी हो सकती है. दरअसल साल 2015 में जब भूकंप के चलते नेपाल में भारी तबाही हुई थी, तब राम रहीम ने यहां के नुआटोल जिले में राहत अभियान चलाया था. इस इलाके में राम रहीम के काफी भक्त भी हैं. ऐसे में नेपाल के आस-पास के इन? इलाकों में हनीप्रीत के होने की खबर को बल मिलता है. इससे पहले हनीप्रीत की सहेली साध्वी ने आजतक’ से बातचीत में बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया है, जिससे पता चलता है कि हनीप्रीत भी राम रहीम के गुनाहों में बराबर की शरीक थी. साध्वी ने बताया है कि बाबा और हनीप्रीत पति-पत्नी की तरह रहते थे. डेरे में हनीप्रीत की सहेली (साध्वी) ने खुलासा किया कि राम रहीम और हनीप्रीत के बीच गलत रिश्ते थे. साध्वी ने बताया, ‘डेरे में राम रहीम और हनीप्रीत पति-पत्नी की तरह रहते थे. दोनों एक ही कमरे में रहते थे. बाहर जाने पर भी दोनों एक ही कमरे में ठहरते थे’.
डेरे में लड़कियां पहुंचाती थी हनीप्रीत
साध्वी ने खुलासा किया कि हनीप्रीत कहने में बाबा की मुंहबोली बेटी थी, मगर देखने में ऐसा नहीं लगता था. यही नहीं, साध्वी ने ‘आजतक’ से बताया, ‘हनीप्रीत राम रहीम के इशारे पर काम करती थी. डेरे में मौजूद लड़कियों को राम रहीम तक पहुंचाने का काम करती थी’. साध्वी ने कहा, ‘बाबा जिस लड़की की ओर इशारे करते थे, हनीप्रीत उसे बाबा तक पहुंचाने में जुट जाती थी’.
राम रहीम के करीबी ने किया था खुलासा
हरियाणा पुलिस राम रहीम के जेल जाने के बाद उसकी चहेती हनीप्रीत को शिद्दत से तलाश कर रही है. पुलिस को पहले ही शक था कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है. वहीं पुलिस की गिरफ्त में आए राम रहीम के करीबी प्रदीप ने भी पूछताछ में खुलासा किया था कि हनीप्रीत नेपाल भाग गई है.
बिहार के 7 जिलों में अलर्ट पर पुलिस
इससे पहले हरियाणा पुलिस का मानना था कि वह नेपाल भागने की फिराक में तो है, लेकिन अभी सीमा पार नहीं कर पाई. इसलिए हरियाणा पुलिस ने इसे लकेर बिहार पुलिस को भी अलर्ट किया था, जिसके बाद नेपाल से सटे बिहार के 7 जिलों में पुलिस की सतर्कता बढ़ा दी गई. हरियाणा पुलिस से मिली जानकारी के बाद पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, सुपौल, सीतामढ़ी, अररिया और किशनगंज पुलिस की कश्ती और निगरानी बढ़ाई गई है. नेपाल के साथ खुला बॉर्डर होने की वजह से जो भी गाडिय़ां भारत की तरफ से नेपाल में घुस रही हैं उनकी गहन छानबीन की जा रही है.